मां का शव फ्रीजर में रख 3 साल से पेंशन ले रहा था इंजीनियर बेटा

पिता की मौत का कर रहा था इंतजार, खरीद लिया था फ्रीजर

पुलिस गिरफ्त में आरोपी बेटा।

NJ. Network, kolkata 

लालची बेटा पैसे के लिए इस हद तक गिर जाएगा किसी ने नहीं सोचा होगा। कोलकाता के बेहला थाना क्षेत्र के जेम्स लांग सरणी में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। मां की पेंशन हासिल करने के लिए बेटे ने उसके शव को 3 साल तक फ्रीजर में रखा। हर साल वह मां के जीवित होने का प्रमाण बैंक में शव का अंगूठा लेकर पेश करता था। इसके बाद पेंशन को बैंक खाते में आने के बाद डेबिट कार्ड द्वारा निकाल लेता था। इस तरह तीन साल से पचास हजार रूपये प्रतिमाह पेंशन ले रहा था। चौंकाने वाली बात यह है कि वह अपने जीवित पिता की मौत का इंतजार कर रहा था और उसके लिए भी फ्रीजर खरीद लाया था। पिता भी बेटे के साथ ही रह रहा था लेकिन उसने बेटे की इस करतूत पर कभी आपत्ति नहीं की।

एफसीआई में बडे़ पद से हुईं थीं रिटायर

गुप्त सूत्रों से जानकारी मिलने के बाद डीसी एसईडी निलांजन विश्वास ने पुलिस टीम के साथ छापा मार कर वृद्धा का शव बरामद किया। 84 वर्षीय बीना मजूमदार फूड कॉरपारेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) में बड़े पद से रिटायर हुई थीं। लगभग तीन साल पहले बीमारी के कारण उनकी मौत हो गई थी।

शव को सुरक्षित रखने के लिए दिखाई ‘इंजीनियरिंग‘

बेटे शुभब्रत मजूमदार (46) ने शव का अन्तिम संस्कार नहीं किया बल्कि इसकी बजाय उसने शव को सुरक्षित रखने की योजना बना ली। उसने मां के शव को फ्रीजर में रख दिया था। बेटे ने लेदर टेक्नोलॉजी की पढ़ाई की है इसलिए वह मां के शव को सुरक्षित रखने के लिए रसायनों का इस्तेमाल करता था। पिता गोपाल चंद्र मजूमदार (89) भी बेटे के साथ ही रहते थे, वह भी एफसीआई में ही बडे़ पद से रिटायर हुए हैं। मां बीना मजूमदार को 50 हजार रुपए प्रति महीने पेंशन मिलती था। माना जा रहा है कि पेंशन लेते रहने के लिए शुभब्रत ने ऐसा किया था। इंजीनियरिंग की पढाई करने के बाद भी बेटा कोई नौकरी नहीं कर रहा था और माता-पिता की पेंशन पर ही गुजारा कर रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.