मामूली विवाद की सजा मौत, रिटायर्ड फौजी ने कर दी दिल दहला देने वाली वारदात… जानिए क्या है मामला

News Junction24/Haldwani 

युवा व्यापारी कुश

हल्द्वानी में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। मोबाइल रिपेयरिंग के मामूली विवाद में शराब के नशे में धुत एक सेवानिवृत्त फौजी ने युवा कारोबारी को मौत की सजा दे दी। उसके गाल से सटाकर बंदूक चला दी।

गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर जुटे और आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले किया लेकिन तब तक कारोबारी की मौत हो गई।

घटना कालाढूंगी रोड पर भोलानाथ गार्डन मार्ग पर हुई। वहीं तिराहे के सामने स्थित गौरी कम्युनिकेशन के नाम से शॉप है। नैनीताल रोड पर कोहली गार्डन में रहने वाले कुश बख्शी(37) पुत्र स्व. कुलदीप बख्शी गुरुवार दोपहर दुकान पर बैठे थे।

 

वहां बागेश्वर जिले के ग्राम बोहाना कठुपढिय़ा छीना, थाना काफली गेट निवासी रिटायर्ड फौजी मोहन सिंह रावत पुत्र स्व. देव सिंह रावत मोबाइल रिपेरिंग कराने पहुंचा। इस दौरान किसी बात को लेकर मोहन व कुश में बहस हो गई।

इतने में मोहन ने मोबाइल फेंककर कुश के पिता स्व. कुलदीप बख्शी की फोटो पर मारा। इससे फोटो टूट गई। इसके बाद दोनों के बीच हाथापायी हो गई। लोगों के बीच-बचाव करने पर उस समय मामला शांत हो गया। शाम करीब पौने आठ बजे मोहन नशे की हालत में 312 बोर की बंदूक लेकर दुकान पहुंचा।

मोहन ने दुकान में घुसते ही बंदूक कुश की गाल में सटाकर गोली चला दी। गोली लगने से कुश का चेहरा पूरा फट गया और वह जमीन पर गिर पड़ा। इससे वहां खड़े सेल्समैन व ग्राहकों की सांसें थम गई। मोहन दूसरी गोली मारने के लिए बंदूक दोबारा लोड करने लगा तो लोगों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा। घटना का पता लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची। आरोपी को हिरासत में लेकर काठगोदाम थाने में रखा गया है।

जमकर पी थी शराब :

हत्यारोपी मोहन सिंह रावत

कुश को मौत के घाट उतारने वाले रिटायर्ड फौजी ने वारदात को अंजाम देने से पहले जमकर शराब पी थी, जब नशा चढ़ा तो उसने कुश से बदला लेने की ठान ली। नशे में बुरी तरह धुत फौजी रानीबाग, एचएमटी फैक्ट्री स्थित कमरे में गया और बंदूक लेकर हल्द्वानी पहुंचा। दुकान पहुंचते ही उसने गोली चला दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.