जमीन बेचकर पति पी गया शराब, खाने के पड़े लाले तो पत्नी ने बेटी के साथ खाया जहर

Newsjunction24/Bareilly 


शराब ने जाने कितने घर उजाड़ दिए। कितनों की जिंदगी बर्बाद कर डाली। गुरुवार को एक और मामला सामने आया जो बरेली थाना क्षेत्र के ग्राम अतरछेड़ी से जुड़ा है। यहां रहने वाले एक व्यक्ति को शराब की ऐसी लत लगी कि वह गांव में अपनी सारी जमीन बेचकर परिवार को छोड़ कहीं चला गया। पीछे छोड़ गया अपनी पत्नी और मंदबुद्धि बेटी।

गरीबी से जूझ रही महिला व उसकी बेटी को पेट की आग काटने को दौड़ रही थी, जब बर्दाश्त से बाहर हुआ तो गुरुवार को महिला ने अपनी बेटी के साथ जहर खा लिया। इससे महिला की मौके पर मौत हो गई। बेटी को गंभीर अवस्था में उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया था, जहां देर रात उसने भी दम तोड़ दिया। ग्रामीणों की माने तो परिवार के हालात ऐसे थे कि खाने का इंतजाम तक नहीं था।

ये है मामला: ग्राम अतरछेड़ी के उदयभान सिंह शराब की लत के चलते सारी जमीन बेचकर पांच-छह साल पूर्व गांव छोड़कर चले गए थे। उनका एक मात्र पुत्र शादी के बाद पत्नी को लेकर दस वर्ष पूर्व कहीं बाहर चला गया। गांव में उदयभान की पत्नी राजवती (60) मानसिक मंदित बेटी रानी (25) के साथ रहती थी। आर्थिक तंगी में हालात दुश्वार हुए तो गुरुवार को उन्होंने मौत को गले लगा लिया।

पहले बेटी और फिर खुद जहर खाया: राजवती ने पहले बेटी रानी को जहर दिया, बाद में स्वयं भी खा लिया। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणों को पता चला तो गंभीर हालत में रानी को इलाज के लिए बरेली भिजवाया, जहां उसकी मौत हो गई।

तीन पुत्रियां व एक पुत्र, फिर भी राजवती अकेली : राजवती के तीन पुत्रियां व एक पुत्र है। मायके से मिली जमीन बेचकर पुत्री रेखा व गोला की शादी कर दी थी। वह छोटी पुत्री के साथ गांव में ही रहती थी।

शादी में शामिल होने गई थीं बेटियां : गुरुवार को ही राजवती की बहन के घर में वैवाहिक समारोह था, जिसमें शामिल होने के लिए उनकी दोनों पुत्रियां आंवला में गई थीं। पता चलने पर वह गांव पहुंचीं। उनकी पुत्री रेखा ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि आर्थिक तंगी में मां ने घातक कदम उठाया। उन्हें किसी पर कार्रवाई नहीं करनी।

कटवा दिया था राशन कार्ड से नाम: गांव के अतुल कुमार सिंह एडवोकेट ने बताया कि उनका गरीबी रेखा के नीचे का उनका राशनकार्ड बना हुआ था, जो कटवा दिया गया। इसके लिए उन्होंने स्वयं ऑनलाइन आवेदन करा दिया था। अभी सरकारी राशन आदि नहीं मिल पा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.