भारत आई पाकिस्तानी दुल्हन को 38 साल बाद मिली हिन्दुस्तान की नागरिकता, जानिए मामला…

NewsJunction24@Bareilly

तीन दशक से भी ज्यादा का वक्त। सरकारी दफ्तरों के चक्कर। ये कागज नहीं तो ये रूल नहीं। धैर्य जवाब दे जाता है। इरफाना के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। सन 1980 में पाकिस्तान से भारत की दुल्हन बनकर बरेली आईं इरफाना यहां की नागरिकता के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट-काट कर थक चुकी थी लेकिन इरफाना ने हिम्मत नहीं हारी। आखिरकार, मंगलवार को एडीएम सिटी ने उसे भारत की नागरिकता का प्रमाण-पत्र सौंप दिया। अब वह यहां की हर सुविधा का लाभ ले सकेगी।

irfana
  • बचपन तो यहीं कटा था : असल में इरफाना हुसैन का जन्म वर्ष 1955 में बरेली में ही हुआ। उसके दो भाई पहले ही पाकिस्तान चले गए थे। एक भाई यहीं रहते थे। इरफाना ने यहीं के इस्लामिया इंटर कॉलेज से हाईस्कूल की परीक्षा पास की थी। इसके बाद वह 1971 में अपने भाई के साथ कराची चली गईं। उसका पूरा परिवार पाकिस्तान ही शिफ्ट हो गया। वहां इरफाना ने पाकिस्तान की नागरिकता भी ले ली। नौ साल बाद 1980 में इरफाना भाइयों के साथ बरेली घूमने आईं। भाई ने बरेली के किंघी टोला के माजिद के साथ उसका निकाह कर दिया। इरफाना 1980 से एलटीसी पर बरेली में रह रही थीं।
  • शादी के बाद ही शुरू कर दिए थे नागरिकता के लिए प्रयास : माजिद ने इरफाना से शादी के बाद ही भारत की नागरिकता लेने के लिए प्रयास शुरू कर दिए थे मगर उसे नागरिकता नहीं मिली। दो बार आवेदन कैंसिल हो गए लेकिन उसने व परिवार ने हार नहीं मानी। 2015 में नए सिरे से नागरिकता के लिए फिर आवेदन किया। इधर, नागरिकता का इंतजार करते-करते इरफाना पर बूढ़ापा आ गया। शादी के बाद इरफाना के चार बच्चे हुए। दो बेटियों की शादी भी उसने कर दी। इसके बाद मंगलवार का दिन उसके लिए खुशियां लेकर आया। भारत सरकार ने जांच-पड़ताल के बाद उसे भारत की नागरिकता दे दी।

दिल्ली और लखनऊ के चक्कर काट-काट कर थक चुका था माजिद: इरफाना हुसैन के शौहर माजिद हुसैन की खुशी देखते ही बन रही थी। इरफाना को नागरिकता मिलते ही माजिद ने कहा कि अब नागरिकता के लिए भागदौड़ नहीं करनी पड़ेगी। दिल्ली और लखनऊ के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। एलटीसी की झंझट भी खत्म हो गया।

गृह मंत्रालय ने इरफाना हुसैन का नागरिकता प्रमाण पत्र भेजा था। इरफाना को उनके शौहर और रिश्तेदारों की मौजूदगी में नागरिकता प्रमाण पत्र सौंप दिया गया है। – ओपी वर्मा, एडीएम सिटी

Leave a Reply

Your email address will not be published.