शर्मनाकः बरेली से लालकुआं के बीच 11 दिन पहले चली डेमू ट्रेन की दुर्दशा, हैंडल और बाथरूम का नल तक लिए गए लोग

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को जोड़ने वाली लालकुआं-बरेली के बीच हाल में चलाई गई अत्याधुनिक डेमू ट्रेन में शायद ‘चोर’ यात्रा कर रहे हैं। यह हम नहीं कह रहे, बल्कि खुद ट्रेन के हालात बयां कर रहे हैं। महज 11 दिन पहले चलाई गई डेमू से अब तक टोटी समेत तमाम उपकरण चोरी हो चुके हैं।

रेलवे देश को बुलेट और टेल्गो ट्रेन जैसी सौगात देने की कोशिश कर रहा है तो रेल यात्री ट्रेनों का दम निकालने में लगे हुए हैं। इज्जतनगर रेलवे ने आधुनिक सुविधाओं वाली डेमू ट्रेन की सुविधा दी। मगर चंद दिनों में ही ट्रेन की सूरत बदरंग कर दी। अब ट्रेन के किसी शौचालय से टोटी गायब है तो किसी से मग और डस्टबिन।

यही हाल कोच का है। लोग गेट से हैंडिल तक उखाड़ ले गए हैं, सीटों की रैक्सीन तक गायब बताई जा रही है। मरम्मत के लिए गाड़ी रेल कारखाना पहुंची तो यह देखकर अधिकारियों और कर्मचारियों के होश उड़ गए।  जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह का कहना है कि यह घटना बेहद शर्मनाक है। यात्रियों ने कोच और शौचालयों को डैमेज कर दिया है। आरपीएफ को आरोपियों की तलाश के निर्देश दिए गए हैं।

29 को चली थी डेमू
बरेली से बीती 29 सितंबर को डेमू ट्रेन चलाई गई थी। ट्रेन को केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने हरी झंडी दिखाई थी। पहली ट्रेन इज्जतनगर-लालकुआं और बरेली-पीलीभीत के बीच चलाई गई थी।

ट्रेन से ये चीजें गायब
डस्टबिन, फ्लशकॉक, मग, दरवाजों के हैंडिल, वाश बेसिन, टॉयलेट के दरवाजे, सीटों की रैक्सीन आदि।

Leave a Reply

Your email address will not be published.