अनिवार्य सेवानिवृत्ति के बाद पूर्व आईपीएस अमिताभ की सोशल मीडिया पर पोस्ट से यूपी सरकार में हलचल, पढ़िए क्या लिखा है

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी अमिताभ ठाकुर, राकेश शंकर तथा राजेश कृष्णा को मंगलवार को अनिवार्य सेवा निवृत करने के बाद एडीजी अमिताभ ठाकुर ने आज सेवा निवृति को लेकर सरकार को लिखे पत्र के कुछ अंश सोशल मीडिया पर सार्वजनिक किये।

अमिताभ ने यह पत्र 4 दिसम्बर 2०19 को लिखा था। पत्र में अमिताभ ने लिखा था कि उन्हें विश्वस्त सूत्रों से बताया गया है कि उनके कथित रूप से असुविधाजनक तथा अप्रिय होने, “मुकदमेबाज” होने, आपराधिक वाद दायर करने अथवा प्रशासनिक कार्यवाही करने की मांग करने के कारण उन्हें अत्यंत उच्चस्तरीय दबाव में अनिवार्य सेवा निवृति देकर नौकरी से अलग करने के उच्चस्तरीय मौखिक निर्देश हुए हैं, जिसका शीघ्र क्रियान्वयन होगा।
उन्होंने कहा था कि यदि ऐसा हुआ तो यह घोर अन्यायपरक एवं मनमाना होगा, जिसका उद्देश्य प्रशासनिक व्यवस्था में अवांछित कर्मी को अलग करना नहीं बल्कि इस प्रावधान का गलत प्रयोग करते हुए व्यवस्था में ताकतवर स्थानों पर बैठे तमाम व्यक्तियों के लिए असुविधाजनक तथा अप्रिय व्यक्ति को व्यवस्था से अलग करना होगा, जो अनुचित उद्देश्य से संचालित होगा।
अमिताभ ने कहा था कि वे किसी भी प्रकार से अवांछित कर्मी नहीं हैं बल्कि यह संभव है कि वे व्यवस्था में बैठे ताकतवर लोगों के लिए असुविधाजनक तथा अप्रिय होयें ।
उन्होंने अपने ऊपर फर्जी ढंग से विभागीय कार्यवाही शुरू करने तथा उन्हें लम्बे समय तक जानबूझ कर लंबित रखे जाने की बात भी कही थी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*