बेटा-बेटी की एकसाथ मौत के बाद पिता पर गंभीर आरोप, कब्र खोदकर निकलवाये गए शव

न्यूज जंक्शन 24, लखीमपुर-खीरी। फूलबेहड़ इलाके मे चार माह पूर्व हुई दो बच्चों की संदिग्ध हालात में मौत के मामले में डीएम के आदेश पर दफनाए गए बच्चों के शवों को मंगलवार को कब्र से बाहर निकाल कर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक बच्चों की मां व मायके पक्ष के लोगों ने पिता पर बच्चों की हत्या कर शव दफनाने का आरोप लगाया था जिस पर जिला प्रशासन ने फूलबेहड़ पुलिस को बच्चों के शवों को कब्र से निकलवाकर पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया था।

थाना फूलबेहड़ क्षेत्र के गांव जोधपुर निवासी कमालूद्दीन पुत्र जलालुदीन पर उसकी पत्नी शाहजहां बेगम पुत्री हमीदउल्ला ने अपने पुत्र अजमान (4) व पुत्री रीवा (3) को मार कर शव दफनाने का आरोप लगाया है। शाहजहां बेगम निवासी फूटाकुआं थाना फरधान की शादी तीन मार्च 2016 को जोधपुर निवासी कमालूद्दीन के साथ हुई थी। शादी के बाद दहेज को लेकर उसका पति आए दिन उसके साथ मारपीट कर प्रताड़ित था। चार माह पूर्व उसने मारपीट कर शाहजहां को घर से निकाल दिया। शाहजहां के दो बच्चे अजमान व रीवा को कमालूद्दीन ने अपने पास रोक लिया। शाहजहां के भाई सिंकदर अली ने बताया कि दहेज को लेकर आए दिन हो रहे वाद-विवाद से बचने के लिए उसने कई बार सगे संबधियों के समक्ष फैसला भी कराया लेकिन कमालूद्दीन किसी भी बात को लेकर राजी नहीं हुआ। आरोप है कि कमालूद्दीन दूसरी शादी करने के लिए शाहजहां से छुटकारा पाना चाहता था। नवम्बर माह में कलामुदीन ने शहजहां को मारपीट कर घर से निकाल दिया।

उसके दोनों बच्चों को जबरन अपने पास रोक लिया। शाहजहां के पिता हमीदउल्ला का आरोप है कि 23 नवम्बर 2020 को दोनों बच्चों की मौत हो गई। कमालूद्दीन ने शाहजहां को जानकारी दिए बिना दोनों के शव दफना दिये। उन्हें पता लगा तो मौत का कारण जानने की कोशिश की लेकिन कमालूद्दीन ने बच्चों की मौत बीमारी से होना बताया। हमीदउल्ला ने बताया कि बच्चों की मौत के एक सप्ताह के बाद कलामुदीन ने दूसरी शादी कर ली। इस बात से शक हुआ कि बच्चों की मौत बीमारी से नहीं हुई बल्कि हत्या की गई है।

इसके बाद शाहजहां ने फूलबेहड़ थाने जा कर पुलिस को तहरीर दी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नही की। उसने पुलिस अधीक्षक समेत कई आलाधिकारियों से मामले की शिकायत करके आरोपी पति पर कार्रवाई की गुहार लगाई लेकिन नहीं सुनी गई। बच्चों की मौत के गम से आहत पीड़िता ने आखिकार मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई। वहां से हरकत होने के बाद डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह के आदेश पर फूलबेहड़ पुलिस ने मंगलवार को दोनों बच्चों के शव कब्र से निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजे। अब पूरा दारोमदार पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर निर्भर है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*