शपथ ग्रहण से पहले CM धामी खुद पहुंचे ‘महाराज’ के ‘धाम’, कुछ इस तरह चल रहा नाराज विधायकों को मनाने का काम

देहरादून। युवा विधायक पुष्कर सिंह धामी को भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने से पार्टी के कुछ वरिष्ठ विधायकों में नाराजगी को देखते हुए भाजपा उन्हें साधने में जुट गई है। मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी और उनके मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण से ऐन पहले के इस घटनाक्रम के मद्देनजर रविवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक सांसद एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट समेत अन्य नेता रूठों को मनाने की कोशिशों में जुटे रहे। इस स्थिति में शपथ ग्रहण को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई है। यह साफ नहीं कि पुष्कर सिंह धामी अकेले मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे या फिर मंत्रियों को भी शपथ दिलाई जाएगी।

यह भी पढ़ें : धामी के शपथ ग्रहण का समय फाइनल, आज इतने बजे शपथ लेते ही बन जाएंगे राज्य के 11वें सीएम

यह भी पढ़ें : Uttrakhand breaking : उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री के शपथ लेने से पहले भाजपा में फिर फूटा गुस्से का बम, महाराज और हरक दिल्ली रवाना। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने यह संभाला मोर्चा

पुष्कर सिंह धामी भी सतपाल महाराज को मनाने उनके घर पहुंचे। कहा जा रहा था कि धामी भगत सिंह कोश्यारी के खेमे के हैं, ऐसे में खंडूड़ी का खेमा भी इस फैसले से नाराज हो गया है। इसे देखते हुए युवा सीएम बीएस खंडूड़ी के भी घर पहुंचकर उनसे मुलाकात की। वहीं, उसके बाद सतपाल महाराज से धन सिंह रावत और यतीश्वरानंद ने भी मुलाकात की। सतपाल महाराज से मुलाकात के बाद जब धन सिंह रावत से इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने इस मामले पर कुछ भी कहने से मना कर दिया। यही नहीं, सतपाल महाराज से मिलने आए स्वामी यतीश्वरानंद ने इतना जरूर कहा कि सतपाल महाराज नाराज नहीं हैं। वो बस यहां औपचारिक तौर पर मुलाकात करने आए हैं।

यतीश्वरानंद ने कहा हाईकमान के फैसले से कोई भी विधायक नाराज नहीं है। उन्होंने कहा आलाकमान ने जो निर्णय लिया है सब उसके साथ हैं। लिहाजा निर्वाचित मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण में सभी विधायक मौजूद रहेंगे।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*