अगले महीने से आप पर बढ़ेगा एक और बोझ, बचना है तो अभी करिए ये काम

नई दिल्ली। अगले महीने यानी अप्रैल से शुरू हो रहे नए वित्तीय वर्ष में आप पर एक और बोझ बढ़ने वाला है। महंगाई से जूझ रहे लोगों को अब बीमा कंपनियां झटका देने वाली हैं। वह टर्म इंश्योरेंस प्रीमियम महंगा करने की तैयारी कर रही हैं। साल 2020 में लोगों के लिए स्वास्थ्य और जीनव बीमा का महत्व बढ़ा है। कोरोना काल में लोग इंश्योरेंस की ओर ज्यादा आकर्षित हुए हैं। जिन लोगों ने पहले से ही बीमा करा रखा था, वे अब हेल्थ इंश्योरेंस का दायरा बढ़ा रहे हैं। लेकिन अगले महीने से आपको इंश्योरेंस महंगा पड़ सकता है।

एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, जीवन बीमा कराने की लागत 10 से 15 फीसदी तक बढ़ सकती है। इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि कोरोना महामारी के चलते इंश्योरेंस कंपनियों को नुकसान हुआ है। उनकी बीमा लागत और खर्च काफी बढ़ गई है। इस वजह से लाइफ कवर लेना महंगा होने वाला है। मालूम हो कि इस बढ़त का असर पॉलिसी लेने वाले नए ग्राहकों पर होगा। पुराने ग्राहकों के लिए जो प्रीमियम तय किया गया था, उन्हें उसी का भुगतान करना होगा।

टाटा एआईए, एगॉन लाइफ, मैक्स लाइफ, पीएनबी मेटलाइफ, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस और इंडियाफर्स्ट लाइफ ने अगले वित्त वर्ष से बढ़ी हुई कीमतों के साथ नए टर्म इंश्योरेंस उत्पाद लॉन्च करने की अनुमति लेने के लिए बीमा नियामक इरडा के पास आवेदन किया है। बीमा कंपनियों का कहना है कि उनको अपना प्रीमियम बढ़ाना होगा क्योंकि कोरोना के दौरान री-इंश्योरेंस महंगा हो गया है। हालांकि कोविड-19 के आने से पहले ही री-इंश्योरेंस की दरें भारतीय जीवन बीमा कंपनियों के लिए बढ़ रही थीं क्योंकि वैश्विक अंडरराइटर्स ने देश में री-इंश्योरेंस की बेहद कम दरों पर चिंता जताई थी। री-इंश्योरेंस की दरों में बढ़ोतरी ऐसे वक्त में हुई है, जब जीवन बीमा कंपनियां के पास महामारी के चलते अनुमान से अधिक मृत्यु दावे आ रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*