8.1 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

Uttrakhand भारत बंद : केवल तराई में दिख रहा असर, पहाड़ पर जनजीवन सामान्य, US Nagar में विवाद

हल्द्वानी। कृषि कानूनों के विरोध में आज किसान संयुक्त मोर्चा ने भारत बंद बुलाया है। इसे कई व्यापारिक और राजनीतिक संगठनों का साथ भी मिला है, मगर उत्तराखंड में इसका असर खास नहीं हैं। केवल तराई के इलाकों में ही भारत बंद का असर देखा जा रहा है।

कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने पांच सितंबर को मुजफ्फरनगर में हुई किसान महापंचायत में 27 सितंबर को भारत बंद का एलान किया था। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि तीन कृषि कानूनों के वापस लिए जाने तक वह अपना आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे। कांग्रेस समेत विभिन्न विपक्षी दलों ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है, मगर सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक बुलाए गए इस भारत बंद का हल्द्वानी व नैनीताल शहर समेत अन्य पर्वतीय जिलों में कोई असर नही दिख रहा है।

ऊधमसिंह नगर में साप्ताहिक बंदी का भी दिन है, लिहाजा इस वजह से वहां बंद का असर दिख रहा है। यहां सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की दुकानें जैसे ब्जी, दूध, दवा, फल की दुकानें ही खुली हैं। सड़कों पर लोगों की आवाजाही भी कम है। डीडी चौक, इंदिरा चौक, गावा चौक, नैनीताल रोड, काशीपुर बाईपास रोड सहित अन्य मार्गों पर सुनसानी है। आवयश्क वस्तुएं सब्जी, दूध, दवा, फल लेने वाले ही दिखे। इधर आंदोलनकारी किसान सभी से दुकानें व वाहनों का परिचालन बंद रखने की अपील कर रहे हैं। बाजपुर, खटीमा, सितारगंज, गदरपुर में भी बंद समर्थक बाजार बंद करने की अपील कर रहे हैं।

बाजार बंद करवाने को लेकर विवाद

इधर, ऊधमसिंह नगर के बंडिया में बाजार बंद को लेकर विवाद हो गया है। भारत बंद के आह्वान के चलते सिख संगठन के लोग पिकअप वाहन व बाइक पर बाजार बंद करवाने निकले थे। इस दौरान जब वह बंडिया पहुचे तो वहां पूर्व फौजी भूपेंद्र सिंह की रुद्रा बुक डिपो को बंद करवाने का प्रयास किया तो उसने मोदी समर्थन में दुकान बंद करवाने का प्रयास किया तो आमने सामने आ गए। हंगामे पर पुलिस भी वहाँ पहुच गयी। पुलिस ने किसी तरह टकराव टाला। पूर्व फौजी के साथ ही दूसरे पूर्व फौजी प्रताप सिंह ने अपनी लक्ष्मी सूट एवं गिफ्ट सेंटर बंद नही की। इस पर प्रदर्शनकारी वापस लौट गए। विरोध की संभावना के चलते पुलिस बल सक्रिय हो गया।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles