spot_img

Big crime news : बागेश्वर से दो नाबालिगों का अपहरण, परिजनों से मांगी फिरौती। पढ़िये सनसनीखेज घटना …

 

बागेश्वर : पहाड़ की शांतवादियों में अपहरण जैसी घटना ने पुलिस और लोगों को हिलाकर रख दिया है। बुधवार को कपकोट से दो नाबालिगों का अपहरण कर लिया गया और परिजनों से फिरौती मांगी। घटना की सूचना परिजनों ने पुलिस को दी तो हड़कंप मच गया। कपकोट पुलिस ने सभी थानों को अलर्ट जारी कर दिया। लेकिन देर रात अल्मोड़ा और बागेश्वर की एसओजी टीम ने अपहरणकर्ताओं को खैरना के समीप पकड़ लिया। एक अन्य आरोपित अभी फरार है।
कपकोट क्षेत्र के गांव सूपी, पतियार निवासी 16 वर्षीय देवेंद्र सिंह और उसके साथी 13 वर्षीय कृष्णा सिंह गत बुधवार को कपकोट अस्तपाल आए थे। वह दवाइयां आदि खरीदने के बाद घर को लौट रहे थे। उन्हें कपकोट बाजार में चार युवक मिले। जिससे एक युवक स्थानीय था। जिसे वह दोनों पहचानते थे। पुलिस के अनुसार एक युवक पालड़ीछीना, कपकोट और दो अन्य रुद्रपुर के रहने वाले हैं। वह चरस आदि की तस्करी में लिप्त बताए जा रहे हैं। क्षेत्र में यह भी चर्चा है कि वह चारों युवक किसी गाड़ी का सौदा करने आए थे। शायद उनका काम नहीं बना और वह देवेंद्र और कृष्णा उठाकर अपने साथ ले गए। रास्ते से उन्होंने देवेंद्र के नंबर से फोन किया और दो लाख रुपये की फिरोती मांगी। जिस पर कृष्णा के स्वजन परेशान हो गए। हर सिंह पुत्र मंगल सिंह ने थाने में तहरीर दी और बच्चों के अपहरण के बाद फिरोती की घटना के बारे में पुलिस को बताया। इस दौरान कृष्णा के स्वजन तारा सिंह पुत्र राम सिंह जो दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने अपहरणकर्ताओं के नंबर पर बीस हजार रुपये की धनरशि भेज दी। इसी तरह गगूल पे के आधार पर 62 हजार रुपये तक अपहरणकर्ताओं को दे दिए। तहरीर आने के बाद पुलिस चौकन्ना हो गई। सीओ बिपिन चंद्र पंत ने सभी थानों को अलर्ट जारी कर दिया। अल्मोड़ा के एसएसपी से भी मदद मांगी। अल्मोड़ा की एसओजी टीम सक्रिय हो गई। फोन नंबर सर्विलांस में लगाया गया और लोकेशन अल्मोड़ा और खैरना के मध्य मिली। सीओ ने बताया कि रात लगभग साढ़े दस बजे चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस टीम उन्हें बागेश्वर ला रही है। एक पांचवें आरोपित की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि घटना का कुछ ही घंटों में पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!