अपनी सरकार के खिलाफ बोलना पड़ा भारी, भाजपा विधायक को नाटिस। पार्टी ने यह मांगा स्पष्टीकरण

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून।

भाजपा विधायक पूरन सिंह फर्त्याल को अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलना भारी पड़ गया है। काफी समय से अपनी सरकार को भ्रष्टाचार के मामले में घेरते आ रहे विधायक को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने नोटिस जारी किया है। नोटिस में 7 दिन के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा गया है, ऐसा ना करने पर अनुशासनहीनता में कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई है।
चंपावत जिले की लोहाघाट सीट से भाजपा विधायक पूरन सिंह फर्त्याल काफी समय से अपनी ही सरकार के खिलाफ मुखर हैं। उनका आरोप है कि जौलजीबी-टनकपुर मोटर मार्ग के निर्माण में गलत संस्था को नियमों से हटकर काम दिया गया है। यह निर्णय सरकार ने अपने स्तर से लिया है, जबकि इसके बारे में उन्होंने शुरुआत में ही विरोध किया था। मगर अंदर खाने हुई बातचीत के आधार पर संबंधित संस्था को लाभान्वित कर दिया गया। उनका यहां तक आरोप है कि टेंडर के नियमों के विरुद्ध दिए गए कार्य को लेकर कई मर्तबा मुख्यमंत्री से लेकर मुख्य सचेतक को अवगत कराया मगर कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिस कारण वे लगातार मुखर होते चले गए। हाल ही में एक दिवसीय सत्र के दौरान विपक्ष से ज्यादा भाजपा विधायक पूरन सिंह फर्त्याल ने अपनी सरकार पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगा दिया और इस मामले में सरकार से जवाब भी मांगा। हालांकि सरकार ने उनके इस तरह की किसी भी आरोप का संज्ञान नहीं लिया। मगर विधानसभा चुनावों को देखते हुए पार्टी की खराब हो रही छवि पर गंभीर प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने फर्त्याल को नोटिस जारी कर दिया। नोटिस में 7 दिन के अंदर पार्टी के सवालों का जवाब मांगा है। चेतावनी दी गई है कि अगर नोटिस का जवाब नहीं दिया तो पार्टी बड़ा एक्शन लेगी। फर्त्याल पर लिए गए फैसले से प्रदेश अध्यक्ष ने केंद्रीय हाईकमान को भी अवगत करा दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*