केंद्र की टीम ने बताया कैसे होना है कोरोना से अब बचाव, दिए यह टिप्स। जानिए आप भी

न्यूज जंक्शन 24, हल्द्वानी ।

जनपद में कोविड सम्बन्धी स्वास्थ्य सुविधाओं का जायज़ा लेने पहुॅंची भारत सरकार की टीम। संयुक्त सचिव वाणिज्य एवं उद्योग सुश्री निधिमणि त्रिपाठी के नैतृत्व में एम्स के डाॅ.गिरीश सिंधवानी, उप निदेशक एनसीडीसी डाॅ.निशान्त कुमार ने सर्किट हाउस में अधिकारी के साथ बैठक ली। इसके उपरान्त टीम द्वारा कोविड चिकित्सालय व लैब का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
संयुक्त सचिव ने स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी लेेते हुए कहा कि कोविड-19 लक्षण प्रकट होने पर शीघ्र-अतिशीघ्र सैम्पलिंग की जाये। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों को त्वरित उपचार दिया जाये तथा मरीजों के स्वास्थ्य पर पैनी नज़र रखी जाये। उन्होंने कहा कि होम आईसोलेशन मरीजों की नियमित जाॅच की जाये तथा चिकित्सकों द्वारा प्रतिदिन मरीजों से दूरभाष सम्पर्क कर स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारियाॅ ली जायें। उन्होंने कहा कि फैक्टरी, कम्पनियों, आॅफिसो में कार्य करने वालों की भी शतप्रतिशत सैम्पलिंग की जाये और उनको कोविड के बारे में जागरूक किया जाये। उन्होंने सैम्पलिंग बढ़ाने के साथ ही चिकित्सालयों की क्षमता भी बढ़ाने का सुझाव भी दिया। भारत सरकार द्वारा समय-समय पर जारी गाइडलाइन का अनुपालन कराने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने पर बल दिया जाये।
जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने डाटा प्रजेन्टेशन के द्वारा कोविड स्वास्थ्य सम्बन्धी विस्तृत जानकारियाॅ देते हुए बताया कि जनपद में कोविड चिकित्सालय के साथ ही पचास कोविड केयर सेंटर बनाये गये हैं। उन्होंने बताया कि जनपद में 189 स्वास्थ्य विभाग की आईडीएसपी टीमें, 30 स्क्रीनिंग टीमें, 25 टीमे कन्टेनमेंट जोनो में, 8 टीमे कोविड सैम्पलिंग में लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि 237 वीआरटी, 15 ब्लाॅक लेवल टीमें, 126 सीआरटी तथा 30 आरआरटी टीमें लगायी गयी हैं, जो बाहर से आने वाले प्रवासियों व कोविड संदिग्धों पर पैनी नज़र रखे हुए है। उन्होंने बताया कि जनपद में अभी तक कुल 58735 प्रवासी जनपद में आये हैं। उन्होंने बताया कि डाॅ.सुशीला तिवारी चिकित्सालय को डेडीकेटेड कोरोना चिकित्सालय बनाया गया है। जिसमें गंभीर कोरोना मरीजों को भर्ती कर उपचार किया जा रहा है। चिकित्सालय में 394 बेड के साथ ही 85 आईसीयू बेड बनाये गये हैं। संयुक्त चिकित्सालय रामनगर 100 बेड तथा बीडी पाण्डे चिकित्सालय में 60 बेड स्थापित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए गौलापार स्टेडियम में 200 तथा हल्द्वानी मिनी स्टेडियम में 150 व रामनगर में 200 आॅक्सजीन युक्त बेड तैयार किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि एसटीएच, बेस, बीडी पाण्डे चिकित्सालय व संयुक्त चिकित्सालय रामनगर को और अधिक सुदृढ़ किया गया है। सीएससी गरमपानी, भवाली, कालाढुंगी, पीएचसी पदमपुरी, मोटा हल्द्वू में दूरस्थ क्षेत्रों के लोगो के सैम्पल लेने हेतु कलैक्शन सेंटर बनाये गये हैं। साथ ही जनपद में तीन प्राईवेट लैबों को भी टेस्ट हेतु स्वीकृति दी गयी है। बाहर से आने वाले लोगों के साथ ही सभी विभागों, बैंको आदि के कर्मचारियों एवं अधिकारियों की भी सैम्पलिंग की जा रही है। उन्होंने बताया कि जनपद में होम आईसोलेशन के साथ ही प्लाज़्मा थैरेपी भी की जा रही है। अभी तक 89 कोरोना मरीजों का प्लाज़्मा थैरेपी के माध्यम से उपचार किया गया है। कोेविड संक्रमण उपचार के बाद ठीक होने वाले लोगो को जागरूक कर प्लाज़्मा डोनेट हेतु जागरूक एवं प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक लोग प्लाज़्मा डोनेट कर सकें। इनकी गूगल जीआईएस स्प्रेटशीट मैपिंग तैयार की गयी है जिससे क्षेत्रवार, वार्डवार इन्हें चिन्हित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लोगो को जागरूक भी किया जा रहा है व सैम्पलिंग व स्वास्थ्य सुविधाऐं भी बढ़ायी जा रहीं हैं। जनपद में दो कोविड कन्ट्रोल रूम दिन-रात संचालित हैं, जिनसे महत्वपूर्ण सूचनाओं का नियमित आदान-प्रदान किया जा रहा है तथा लोजिस्टिक, स्वास्थ्य सम्बन्धी सभी जानकारियाॅ दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सेनिटाइजेशन, सामाजिक दूरी को प्रोटोकाॅल के साथ ही मास्क उपयोग की अनिवार्यता प्रभावी की गयी है।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी एवं लाॅजिस्टिक चीफ नरेन्द्र सिंह भण्डारी, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.भागीरथी जोशी, एसीएमओ डाॅ.रश्मि पन्त, डाॅ.परमजीत सिंह द्वारा कोविड-19 स्वास्थ्य सम्बन्धी विस्तृत जानकारियाॅ दी गयी।
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, उप जिलाधिकारी विवेक राय, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, डीएसटीओ एलएम जोशी, डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह आदि मौजूद थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*