12.9 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

अनिल बलूनी के इस स्ट्रोक से कांग्रेस परेशान, हरीश रावत ने ट्वीट कर बयां किया दर्द

देहरादून। राजनीतिक पिच पर राज्यसभा सांसद और बीजेपी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी का स्ट्रोक कांग्रेस पर भारी पड़ रहा है। अनिल बलूनी जिस तरह से उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 से पहले बीजेपी का कुनबा बढ़ाने में लगे हुए हैं, उससे हरीश रावत का दर्द उभर आया है। अपने इस दर्द को बयां करते हुए हरीश रावत ने अनिल बलूनी का नाम लिए बिना एक ट्वीट किया है।

हाल ही में पुरोला विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक राजकुमार ने बीजेपी का दामन थामा है। इसके अलावा धनौल्टी के निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार भी बीजेपी में शामिल हुए हैं। इन दोनों नेताओं को बीजेपी में शामिल करने में अनिल बलूनी ने अंदर खाने बड़ी भूमिका निभाई है। दोनों नेताओं के बीजेपी में शामिल होने के बाद अनिल बलूनी ने विपक्षियों पर ट्वीट कर निशाना भी साधा था।

अनिल बलूनी की इस रणनीति से कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत थोड़ा असहज दिख रहे हैं। उन्होंने एक ट्वीट किया है। हरीश रावत ने लिखा कि प्रत्येक चढ़ती हुई उम्र का व्यक्ति एक इच्छा रखता है कि उसके राज्य में कुछ ऐसे नौजवान उभरें जो राज्य को एक स्वच्छ और स्वस्थ लोकतांत्रिक स्वरूप दे सकें। ऐसे ही एक दिल्ली स्थित नौजवान (अनिल बूलनी) जब कुछ अच्छी बातें कहते थे तो मैं दलीय सीमा लांघ करके भी उनकी प्रशंसा में जुट जाता था, मगर हाल में मैंने कुछ दल-बदल के चित्र और दल-बदल को लेकर ट्वीट देखे, जिनमें उस नौजवान का चेहरा देखकर मुझे बहुत धक्का लगा। लगता है यह नौजवान भाजपा रूपी मां के गर्भ से ही दल-बदल जैसी खुराफातें सीख करके आया है। खैर कोई बात नहीं, मगर इतना तो याद रखिए गुस्सा कांग्रेस पर निकालते यूकेडी पर गुस्सा काहे के लिए निकाल रहे हो।

हरीश रावत ने कहा कि हम तुम्हारे प्रमुख प्रतिद्वंदी पार्टी हैं। मगर यूकेडी उत्तराखंड में दलीय बहुलता का प्रतीक है, और राज्य आंदोलन की पार्टी है। तुमने उनका विधानसभा में वंश ही मिटा दिया है। अपनी पार्टी में मचे घमासान के बाद भी अब तक यह नहीं समझ पाए हो कि तुम्हारा तृणमूल कार्यकर्ता क्या चाहता है और जमीन का भाजपाई क्या चाहता है? हरीश रावत का कहना है कि लोकतंत्र एक दूसरे की भावनाओं का आदर और सम्मान का नाम है। खैर मैं जानता हूं कि मेरे ट्वीट पर कुछ लोग तिलमिलाएंग। कुछ लोग उन्हें रोकना भी चाहते हैं, लेकिन हरीश रावत को कुछ भी क्यों न भुगतना पड़े, समय के साथ न्याय करो और इस समय का यह कालखंड तुमसे उपेक्षा कर रहा है कि निर्भीकता के साथ गलत को गलत कहो। इसलिए मैंने इस ट्वीट को राज्य की जनता की सेवा में समर्पित किया है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles