Corona in uttrakhand : बच्चों की फीस को लेकर स्कूलों के लिए सरकार का सख्त आदेश

 

देहरादून : कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए बंद चल रहे स्कूलों के लिए राज्य सरकार ने एक बार फिर गाइडलाइन जारी कर दी है। सरकार ने साफ कहा है की स्कूल बंद हैं, ऐसे में ऑनलाइन ही शिक्षा दें, और सिर्फ ट्यूशन फीस ही ली जाए। कुछ निजी स्कूल अभिभावकों पर पूरी फीस के लिए दबाव बना रहे हैं। इस संबंध में मिली शिकायतों के बाद शासन ने साफ किया है कि शिकायत सही पाई गई तो कार्रवाई होगी।

सचिव शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम के अनुसार कोरोना संकट को देखते हुए पिछले साल भी सरकार ने सिर्फ ट्यूशन फीस लेने के आदेश दिए थे। इस मर्तबा भी परिस्थितियां पिछले साल जैसी हैं। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री के निर्देश पर राज्य में सभी शिक्षण संस्थान बंद किए गए हैं। अधिकांश संस्थानों में आनलाइन पढ़ाई का क्रम जारी है। शिक्षा सचिव के अनुसार शासन को शिकायतें मिली हैं कि कुछ निजी स्कूल इन परिस्थितियों में भी अभिभावकों पर पूरा शुल्क जमा करने का दबाव बना रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि जब तक आनलाइन पढ़ाई हो रही है, तब तक सिर्फ और सिर्फ ट््यूशन फीस ही ली जा सकेगी। इससे इतर कोई अन्य शुल्क जमा करने का दबाव बनाता है तो ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

वेतन की नहीं होगी दिक्कत

शिक्षा सचिव सुंदरम ने यह भी बताया कि राजकीय माध्यमिक और नवोदय विद्यालयों के शिक्षकों को समय पर वेतन मिल सकेगा। इन शिक्षकों के सालभर के वेतन के लिए 3269 करोड़ रुपये का बजट जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इससे पहले प्राथमिक शिक्षकों के लिए भी इसी प्रकार 2921 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*