Corona in uttrakhand : उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं की परीक्षा भी निरस्त, 12वीं की स्थगित। पढ़िये शिक्षामंत्री का आदेश

 

देहरादून : प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए आखिरकार प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने भी उत्तराखंड शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को लेकर निर्णय सुना ही दिया। शिक्षा मंत्री ने फेसबुक पर जारी बयान में कहा है उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाओं को निरस्त किया जा रहा है और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह निर्णय कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लियाया जा रहा है। इन परीक्षाओं को कराने का फ़ैसला अब एक जून के बाद लिया जाएगा।


शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने फेसबुक पर जारी बयान में बताया कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के कुशल नेतृत्व में प्रदेश में कोरोना महामारी के दृष्टिगत परीक्षार्थियों की सुरक्षा और बचाव के लिए उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद की कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय लिया गया है तथा कक्षा 12वीं की परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला किया है। उक्त संदर्भ में सभी प्रदेशवासियों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जी के नेतृत्व में आगे भी विद्यार्थियों के स्वास्थ्य एवं उज्जवल भविष्य के दृष्टिगत ही निर्णय लिए जाएंगे। शिक्षा मंत्री ने आग्रह किया है कि कोरोना वायरस से सुरक्षा और बचाव के लिए केंद्र व राज्य सरकार के दिशा निर्देशों का अनुपालन पूरी इमानदारी से सुनिश्चित करें।

10वीं और 12वीं में 2.70 लाख परीक्षार्थी हैं पंजीकृत

विदित रहे कि उत्तराखंड में उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं भी 4 मई से शुरू होने वाली थी, कोरोना संक्रमण को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं तो स्थगित हो गई। उत्तराखंड बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर निर्णय नहीं लिया गया था। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने बताया 10वीं और 12वीं की परीक्षा में 2,70,000 से अधिक परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इसमें दसवीं की परीक्षा में 1,48,355 और 12वीं की परीक्षा में 122184 परीक्षार्थी पंजीकृत है। इन परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा कराने के लिए प्रदेशभर में 1347 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*