spot_img

जानलेबा मौसम : उत्तराखंड के चमोली में बादल फटा, ऊधमसिंह नगर में कोसी में बह गए चार लोग। इन जिलों में जारी किया गया ऑरेंज अलर्ट

 

गोपेश्वर/ऊधमसिंह नगर : उत्तराखंड में मुसीबत की बारिश ने जीना मुहाल कर दिया है। चमोली के नारायणबगड़ में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है तो ऊधमसिंह नगर के बाजपुर में अचानक आए कोसी नदी में तेज बहाव में ट्रैक्टर पलट गया। जिसमें सवार चार लोग के बहने की सूचना है। चमोली में पास की पहाड़ी में हुए जबरदस्त भूस्खलन के बाद मलबा कुछ मकान और दुकानों में घुस गया। इसके अलावा मलबे से एक गोशाला और एक मकान ध्वस्त हो गया। इस दौरान कई लोगों ने भागकर जान बचाई। प्रशासन की टीम ने मौके पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया।
मंगलवार तड़के जिला मुख्यालय गोपेश्वर से 90 किलोमीटर दूर नारायणबगड़ कस्बे के पास स्थित एक पहाड़ी पर बादल फटने के बाद भारी मात्रा में मलबा आ गया।
स्थानीय निवासी कमला देवी ने बताया कि तेज गडग़ड़हाट की आवाज से उनकी नींद खुली। बाहर निकल कर देखा तो पास की नदी में बाढ़ जैसा दृश्य नजर आया। उन्होंने स्वजन को तत्काल घर छोडऩे को कहा। कुछ ही देर में मलबा उनके घर में घुस गया। इस बीच अन्य लोग भी बाहर निकल आए और जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थान की ओर भागे। सड़क पर खड़े कुछ वाहन भी मलबे में फंसे हुए हैं। घटनास्थल का जायजा लेने पहुंचे तहसीलदार हरीश चंद्र पांडे ने बताया कि एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, एक दर्जन दुकानों और छह मकानों को नुकसान पहुंचा है। प्रभावितों को नारायणबगड़ के इंटर कालेज में ठहराया गया है।

चार दिनों के लिए आरेंज अलर्ट

देहरादून : उत्तराखंड के अधिकतर जिलों में मौसम सामान्य बना हुआ है। हालांकि सड़कों पर मलबा आने का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग ने पूरे प्रदेश के लिए बुधवार से शनिवार तक के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है। विभाग के अनुसार इस दौरान देहरादून और नैनीताल जिलों समेत कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। दूसरी ओर कुमाऊं के पिथौरागढ़ जिले के धारचूला तहसील में बारिश और भूस्खलन से मुनस्यारी के तल्ला जोहार क्षेत्र में सड़क बंद हो गई है। इसके अलावा नैनीताल में ठंडी सड़क पर फिर भूस्खलन होने से पैदल आवाजाही बंद है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!