सरकारी विभाग हों या फिर बैंक, नव वर्ष पर नहीं बांटेंगे डायरी-पेन कलेंडर।पढ़िये क्यों

न्यूज जंक्शन 24, बरेली।

कोरोना के चलते आर्थिक दुश्वारियां बढ़ी तो सरकार ने भी खर्चे कम करने शुरू कर दिए हैं। केंद्र सरकार ने इस बार वॉल कैलेंडर, डेस्कटॉप कैलेंडर, डायरी, ग्रीटिंग कार्ड आदि की प्रिंटिंग पर रोक लगा दी है। बैंकों को भी यह आदेश भेज दिया गया है।
नववर्ष के मौके पर बैंक, बीमा आदि की डायरी, कैलेंडर आदि का सभी को इंतजार रहता है। इस बार सरकार ने इनकी प्रिंटिंग पर रोक लगा दी है। यह आदेश सभी मंत्रालयों, विभागों, ऑटोनॉमस बॉडी व अन्य सरकारी उपक्रमों पर लागू होगा। वित्त मंत्रालय ने बैंकों को भी इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। कैलेंडर डायरी आदि को फिजिकल फॉर्मेट की जगह डिजिटल फॉर्मेट में तैयार कराया जाएगा। आने वाले समय में कॉफी टेबल बुक की प्रिंटिंग पर भी बैन लगने की तैयारी है। सरकार ने ई-बुक प्रमोट करने की बात कही है। यूनियन बैंक के रीजनल हेड राजेश सिंह ने बताया कि वित्त मंत्रालय से आदेश मिल गए हैं। इस बार नव वर्ष पर कोई भी मटीरियल प्रकाशित नहीं कराया जाएगा। फेस्टिवल ग्रीटिंग कार्ड भी पब्लिश नहीं होंगे।

स्थानीय स्तर पर भी दिख रहा असर
स्थानीय स्तर पर भी इस बार कोरोना का असर साफ नजर आ रहा है। बड़े शैक्षिक, वित्तीय और औद्योगिक संस्थान कैलेंडर, डायरी आदि छपवाने से परहेज कर रहे हैं। कुछ ही संस्थानों ने बेहद कम संख्या में इस बार छपाई का आर्डर दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*