ईओ, जेई और सुपरवाइजर गिरफ्तार, ठेकेदार फरार। अंत्येष्टि स्थल पर छत गिरने से 25 की मौत का मामला

 

गाज़ियाबाद। गाजियाबाद जनपद के मुरादनगर श्मशान घाट में हुए लोमहर्षक हादसे मे 24 लोगों की मौत के बाद राज्य सरकार ने कड़ी कार्रवाई करते हुए हादसे के जिम्मेदार तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनका चालान कर दिया है। इस मामले में स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा बड़ी कार्रवाई करते हुए हादसे के आरोपी ईओ निहारिका सिंह ,जेई चंद्रपाल सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि घटना का मुख्य आरोपी ठेकेदार आशीष त्यागी अभी फरार है जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें छापेमारी में जुटी हुई हैं।
बताते चलें कि रविवार को गाजियाबाद जिले के मुरादनगर श्मशान घाट परिसर में गैलरी की छत गिरने से 40 लोग दब गए गये थे। जिनमें अब तक 24 लोगों के मौत की पुष्टि हो चुकी है।
हादसे का शिकार हुए सभी लोग मुरादनगर के डिफेंस कॉलोनी निवासी फल विक्रेता की अंत्येष्टि में आए थे। ये सभी लोग अंत्येष्टि के बाद गेट से सटी गैलरी में मौन धारण करने के लिए एकत्र हुए थे। इसी दौरान ये हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि ढाई माह पहले गैलरी का निर्माण कराया गया था। आरोप है कि सरिया को छोड़ निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया। गैलरी ढहते ही निर्माण सामग्री चूरे में तब्दील हो गई।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए सभी के जल्द स्वास्थ्य की कामना की है ।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच शुरू कराते हुए बड़ी कार्रवाई करा दी है, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की सहायता राशि दी है। गाजियाबाद के मुरादनगर में छत गिरने की घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*