spot_img

आग से धधक उठा अस्पताल, ICU में भर्ती 20 कोरोना मरीजों में 11 ‘जिंदा जले’

न्यूज जंक्शन 24, मुंबई। महाराष्ट्र के अहमदनगर के सिविल जिला अस्पताल में शनिवार को आग (Fire in hospital) लग गई। इस आग से आईसीयू में भर्ती 11 मरीजों की मौत हो गई। वहीं, करीब 14 लोग बुरी तरह झुलस गए। हादसे के वक्त आईसीयू में 20 लोग भर्ती थे और ये लोग कोरोना संक्रमित थे। 20 से ज्यादा लोगों को पास के ही एक अन्य अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। आग (Fire in hospital) कैसे लगी, इसका पता नहीं चल पाया है। इससे पहले अप्रैल में भी महाराष्ट्र के पालघर जिले के एक निजी अस्पताल की आईसीयू में आग (Fire in hospital) लगने से 15 कोविड मरीजों की मौत हो गई थी।

अहमदनगर पुलिस नियंत्रण के एक अधिकारी ने बताया कि स्थानीय लोगों और बचाव दल की मदद से अस्पताल के अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर कई मरीजों को पड़ोसी वार्डों से स्थानांतरित करने में कामयाबी हासिल की है। घटना के समय, आईसीयू में कम से कम 20 मरीजों का इलाज चल रहा था। दोपहर 1.30 बजे के आसपास भीषण आग (Fire in hospital) पर काबू पा लिया गया था, लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि आग ने पूरे आईसीयू को मलबे के ढेर में बदल दिया है और मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है।

अहमदनगर के जिला कलेक्टर डॉ. राजेंद्र भोसले ने बताया कि मरीजों को दूसरे अस्पताल के कोविड वार्ड में शिफ्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि अस्पताल की इमारत का ‘फायर ऑडिट’ किया गया है। आग (Fire in hospital) के कारणों का अब तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन दमकल विभाग की प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि आग (Fire in hospital) शॉर्ट सर्किट के कारण लगी थी। वहीं एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी का कहना है कि घटना की आधिकारिक जांच की जाएगी।

प्रधानमंत्री ने दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आग (Fire in hospital) लगने से हुई मौत पर दुख जताया है और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र के अहमदनगर के एक अस्पताल में आग लगने से हुई मौतों से दुखी हूं। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख देने की घोषणा

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये देने की घोषणा की गई है। डीसी को घटना (Fire in hospital) की जांच करने और एक सप्ताह के समय में रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles