spot_img

कुम्भ पर अपना फैसला पलटे जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का बड़ा बयान, पढ़िये यह कह डाला

 

देहरादून। प्रदेश के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा पलटे गए फैसलों को लेकर आखिरकार पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की टीस सामने आ ही गई। मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद सोमवार को पहली बार हरिद्वार पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ कहा कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कुंभ मेले में वह किसी भी प्रकार से ढिलाई देने के पक्ष में नहीं हैं। क्योंकि संक्रमण तेजी के साथ पड़ रहा है। अभी तक सिर्फ महाराष्ट्र संवेदनशील था लेकिन आज की स्थिति में कई राज्य इसकी चपेट में आ चुके हैं। ऐसे में कुंभ बड़ा आयोजन है, जहां लाखों लोगों का आना निश्चित है। ऐसे में संक्रमण बढ़ने का डर निश्चित तौर पर बना रहेगा। इसलिए कोविड नियमों का पालन करने में ढील देना उचित नहीं होगा।
ध्यान रहे वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के उस फैसले को रद्द कर दिया है। जिसमें उन्होंने कहा था कुंभ आने वाले हर श्रद्धालु के लिए 72 घंटे के अंदर की rt-pcr कोविड-19 की निवेटिव जांच रिपोर्ट दिखानी पड़ेगी, जिसके पास आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट नहीं होगी उसको मेले में नहीं आने दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के आरटी पीसीआर जांच कराकर आने के आदेश को रद्द करने के फैसले के बाद पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के आए इस बयान को सियासी खेमे में अलग-अलग रूप से देखा जा रहा है। हालांकि एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह भी कहा कि नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत गंभीर वयक्तित्व हैं। वह भलीभांति सभी चीजों को समझते हैं।

Related Articles

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!