एक प्रेमिका के चार प्रेमी, लड़की ने पर्ची डालकर चुना अपना जीवनसाथी। पढ़िये अजब प्रेम की गजब कहानी

 

रामपुर। आज के दौर में भी एक युवती को अपना जीवनसाथी चुनने के लिए स्वयंवर का सहारा लेना पड़ा।जिसमे यूपी के चार प्रेमियों में से एक को दूल्हा चुनने के लिए पंचों को पर्ची डालकर फैसला करना पड़ा।

मामला रामपुर का है जहां एक युवती को घर से भगा ले जाने के मामले में चार युवकों के नाम सामने आए थे। युवती भी तय नहीं कर पा रही थी कि वह किससे निकाह करना चाहती है। मामले का निबटारा करने के लिए आखिरकार गांव के पंचों ने मोर्चा संभाला और तीन दिन तक बंद कमरे में चली पंचायत के बाद पंचों ने पर्ची डालकर दूल्हे का चयन करने का फैसला लिया जिसके बाद चारों युवकों के नाम की पर्चियां डाली गईं। इसके बाद जिस युवक का नाम निकला उसी पर समझौता हो गया।

बता दें कि अजीमनगर नगर के चार युवक टांडा की एक युवती को भगाकर ले आए। आरोपियों ने दो दिन तक तो युवती को अपनी रिश्तेदारी में छुपा कर रखा। लेकिन जब बात खुली तो घरवालों के होश उड़ गये। जहां युवती के परिजन आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी में जुट गये तो वहीं गांव के बड़े-बुजुर्गों ने समझौते की कोशिश करनी भी शुरू कर दी।

पंचों ने चारों युवकों से अलग-अलग बात की और निकाह के लिए दबाव बनाया लेकिन कोई भी युवक युवती के साथ निकाह के लिए तैयार नहीं हो रहा था। वहीं पंचों ने जब युवती से किसी एक युवक को दूल्हे के तौर पर चुनने को कहा तो युवती भी फैसला नहीं ले पाई कि वह चारों में किसे अपने दूल्हे के लिए चुने। मामले को लेकर अलग-अलग गांवों में तीन दिन तक पंचायतें होती रहीं लेकिन कोई हल नहीं निकल पा रहा था। जिसके बाद पंचों ने चारों युवकों और युवती से बात कर पर्ची डालने का फैसला किया। पर्ची की बात पर सभी पक्ष तैयार हो गए। चारों युवकों के नाम पर्ची पर लिखने के बाद उसे कटोरी में रख दिया गया। इस दौरान पंचों ने एक छोटे बच्चे से एक पर्ची को उठाने कहा। बच्चे के पर्ची उठाते ही तीन दिन से चल रहा विवाद सुलझ गया और युवती की शादी उसी युवक के साथ तय कर दी गई जिसका नाम पर्ची में निकला था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*