जमीन विवाद में पूर्व विधायक के पोते की हत्या, घर पर ताबड़तोड़ फायरिंग

 

न्यूज जंक्शन 24, शाहजहांपुर।

जमीन विवाद में पूर्व विधायक के पोते की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। आरोपियों ने घर में घुसकर वारदात की। बचाने दौड़े परिजनों को पीटा। उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग भी की गई। परिजनों ने आरोपियों पर घर में लूटपाट का भी आरोप लगाया।

निगोही से कांग्रेस के पूर्व विधायक अहिबरन लाल वर्मा का पोता राजीव वर्मा राजूपुर गांव में परिवार के साथ रहता था। राजीव की भतीजी सरिता वर्मा ने बताया कि राजीव का खिरियामाल गांव के कुछ लोगों से जमीन को लेकर विवाद था। मंगलवार सुबह राजीव वर्मा घर के बाहर आग के पास बैठे थे। इसी दौरान रंजिश रखने वाले खिरिया माल के एक परिवार के कई लोग हाथों में शस्त्र लेकर घर पर आ धमके। आरोप है कि जान बचाने के लिए राजीव घर के अंदर भागे तो आरोपियों ने उन्हें घर के अंदर घुसकर पकड़ लिया और जमकर पीटा।

राजीव को बचाने उनका भतीजा अवधेश आया तो आरोपियों ने अवधेश को जमकर पीटा। शोर सुनकर ग्रामीणों ने हमलावरों को पकड़ना चाहा तो आरोपियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, जिससे ग्रामीण अपने घरों में दुबक गए। सरिता ने बताया कि इसके बाद सभी आरोपी उसके चाचा राजीव वर्मा को पीटते हुए घर से कुछ दूरी पर ले गए और मृत अवस्था में सड़क किनारे छोड़ दिया। मारपीट के दौरान आरोपियों ने घर में रखे जेवरात भी लूट लिए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल राजीव वर्मा और उनके भतीजे अवधेश वर्मा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में इलाज के दौरान राजीव वर्मा की मौत हो गई, जबकि भतीजे का इलाज चल रहा है। राजीव की पत्नी प्रीति वर्मा व परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। उधर, सुरक्षा को लेकर कोतवाल दीपक शुक्ला ने मृतक राजीव वर्मा के घर पर पुलिस बल तैनात कर दिया।

12 से अधिक लोगों पर मुकदमा दर्ज किया

मंगलवार शाम मृतक राजीव वर्मा के भतीजे अवधेश कुमार वर्मा ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया कि राजीव कुमार सामाजिक कार्यकर्ता थे, जिस कारण खिरियामाल गांव के प्रतिपाल सिंह, उसके पुत्र राजीव सिंह गुड्डू, संजीव सिंह, प्रवीण सिंह, अर्जुन सिंह व अजय पाल सिंह, वीरेश पाल सिंह, मोनू, टोनू, ऋषि पाल, गणेशपुर गांव निवासी नरेश और उसका भाई भूरे, निजामपुर गांव निवासी मुकेश, गुड्डू के साले व तीन अज्ञात लोगों ने लाइसेंसी व अवैध शस्त्रों के साथ उसके घर पर चढ़ाई कर दी थी। फायरिंग करते हुए उसे तथा उसके चाचा राजीव वर्मा को मारा पीटा। इलाज के दौरान राजीव वर्मा की मौत हो गई। एसपी एस आनंद ने गांव में पहुंचकर जांच पड़ताल की।

जिगरी दोस्तों को बना दिया जान का दुश्मन

राजूपुर गांव में तमाम ग्रामीणों ने बताया कि मृतक राजीव वर्मा और आरोपी खिरिया माल का गुड्डू सिंह जिगरी दोस्त हुआ करते थे। दोनों लोगों की एक साथ पढ़ाई हुई थी और एक साथ ही वे हर काम करते थे। दोनों के परिवार के लोग भी बिल्कुल मिल-जुलकर रहते थे। ग्रामीणों ने बताया कि कुछ महीने पहले आबादी क्षेत्र में एक जमीन को लेकर दोनों के परिवार में आपसी विवाद हो गया। धीरे-धीरे विवाद इतना बढ़ा कि दोनों परिवार के लोग एक दूसरे पर कई आरोप लगाते हुए शिकायतें करने लगे। ग्रामीणों के अनुसार मृतक राजीव वर्मा ने आरोपी लोगों पर मुकदमे दर्ज भी कराए थे। ग्रामीणों ने बताया कि उन लोगों ने कभी यह नहीं सोचा था कि मामूली जमीन के विवाद में जिगरी दोस्तों की दोस्ती टूटेगी और दोनों परिवार एक दूसरे की जान लेने के लिए आमादा हो जाएंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*