14.9 C
New York
Wednesday, October 20, 2021

Buy now

हल्द्वानी विस् सीट : संशय खत्म, इंदिरा हिर्देश के बेटे सुमित ही होंगे उनके उत्तराधिकारी, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने साफ की तस्वीर

सौरभ बजाज, हल्द्वानी: कांग्रेस की दिग्गज नेता एवं नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश के निधन के बाद खाली हुई सीट पर उनके बेटे ही उत्तराधिकारी होंगे। लंबे समय से इस सीट पर चुनाव लडऩे को लेकर चली आ रही ऊहापोह अब कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष के बयान की बाद खत्म हो गई है। अभी तक इस सीट पर विधायक बनने का सपना देखने वालों की संख्या कांग्रेस में ही करीब आधा दर्जन बताई जा रही थी। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि इंदिरा जैसे विराट व्यक्तित्व के उनके बेटे सुमित हृदयेश को चुनाव लड़ाना ही डा.इंदिरा के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। ध्वजवाहक के रूप में उनके बेटे सुमित का काम किसी से छुपा नहीं है।
हल्द्वानी विधायक डॉ.इंदिरा का 13 जून को दिल्ली में निधन हो गया था। वह वहां कां्रग्रेस की विधानसभा चुनाव की तैयारियों से संबंधित बैठक में भाग लेने के लिए पहुंची थीं। उनके निधन से कुमाऊं की राजधानी कही जाने वाली हल्द्वानी ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश को तगड़ा झटका लगा था। डॉ.इंदिरा के निधन के कुछ दिन ही बाद यहां उपचुनाव होने और कांग्रेस से लडऩे वालों की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी। पार्टी से करीब आधा दर्जन नेताओं के नाम उभरकर सामने आने लगे जो विधायक बनने का सपना देख रहे हैैं।
गुरुवार को इंदिरा हृदयेश की तेहरवीं थी। जिसमें पार्टी के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह समेत तमाम नेता उनके हल्द्वानी आवास पहुंचे थे। इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए प्रीतम ने कहा कि उपचुनाव कब होता है यह चुनाव आयोग तय करेगा, लेकिन सुमित उनके उत्तराधिकारी होंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचे इंदिरा के आवास, दी श्रद्धांजलि

नेता प्रतिपक्ष के आवास पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि 2007 से 2012 का समय छोड़ डा. इंदिरा हृदयेश 1974 से सदन का हिस्सा रहीं। उनके अनुभव का लाभ हम सब लेते थे। विपक्षी होने के बावजूद सदन में बेवजह का गतिरोध दूर होने पर उनका रवैया हमेशा सकारात्मक रहा।

पीपलपानी में उपनेता प्रतिपक्ष करन माहरा, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा, विधायक ममता राकेश व राजकुमार ठुकराल, मेयर डा. जोगेंद्र रौतेला, पूर्व मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, पूर्व विधायक रणजीत सिंह रावत, यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर समेत भाजपा-कांग्रेस के तमाम नेता पहुंचे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles