हार्टमन के प्रधानाचार्य फादर पीटर सौपेंगे शिक्षा में सुधार का प्लान

बरेली। प्रदेश सरकार पहली बार स्कूल समिट का आयोजन करने जा रही है। इसमें शिक्षा में सुधार पर चर्चा होगी। सीआईएससीई के जिला समन्यवक और हार्टमन कालेज के प्रधानाचार्य फादर पीटर विजय मिंज समिट में स्कूली शिक्षा के सुधार की कार्ययोजना अधिकारियों को देंगे।

 स्कूल समिट लखनऊ में 11 और 12 दिसंबर को होगी। इसमें बरेली के दस प्रधानाचार्य और शिक्षकों को भाग लेना है। हार्टमन कालेज के प्रधानाचार्य फादर पीटर विजय मिंज भी समिट में भाग लेंगे। फादर पीटर समिट को लेकर काफी उत्साहित हैं। उन्होंने शिक्षा में  सुधार के लिए एक कार्ययोजना भी तैयार की है। इसे वो समिट के दौरान उच्च अधिकारियों को सौंपेगे। फादर पीटर ने बताया कि पहली बार कोई शैक्षिक आयोजन होने जा रहा है जिसमें सभी बोर्ड  के प्रधानाचार्य और शिक्षक एक साथ शामिल होंगे। हमें एक-दूसरे के बोर्ड से काफी कुछ सीखने को मिल सकता है। शिक्षा में सुधार मेरी भी प्राथमिकताओं में रहा है। अपने अनुभवों के आधार पर मैंने एक कार्ययोजना तैयार की है। इसे अधिकारियों को दूंगा। अगर अवसर मिला तो समिट में कार्ययोजना प्रस्तुत भी करूंगा।

ये है कार्ययोजना के मुख्य बिंदु

 0 परंपरागत पाठ्यक्रमों में बदलाव लाया जाए। कौशल आधारित पढ़ाई को बढ़ावा दिया जाए।
0 कोर्स में किताबों की संख्या कम की जाए। उनकी जगह व्यवहारिक शिक्षा पर जोर दिया जाए।
0 सभी स्कूलों में नैतिक शिक्षा को फिर से अनिवार्य किया जाए।
0 व्यवहारिक ज्ञान बढ़ाने के लिए छात्रों को विभिन्न संस्थाओं और संस्थानों की विजिट कराई जाए।
0 छात्रों को अलग-अलग क्षेत्र के विशिष्ट व्यक्तियों से रूबरू कराया जाए।
0 छात्रों को देशसेवा, कर्तव्य पालन और सदाचार का पाठ पढ़ाया जाए।
0 सरकारी स्कूलों के बच्चों की निजी स्कूलों में विजिट कराई जाए।
0 हर वर्ष सरकारी और निजी स्कूलों के बच्चों की संयुक्त प्रतियोगिताएं कराई जाएं।
0 पुरानी औचित्यहीन ट्रेड को बंद कर इंड्रस्टी से राय लेकर नई ट्रेड की पढ़ाई शुरू कराई जाए।
0 सभी निजी और सरकारी स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा दी जाए।
0 स्कूलों में हर हाल में शिक्षक अभिभावक संघ की बैठक हो।
0 शिक्षकों को शिक्षण के अलावा अन्य कार्यों से दूर रखा जाए।
0 ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के शिक्षकों को साथ-साथ प्रशिक्षित किया जाए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*