बागेश्वर के कपकोट में अतिवृष्टि, भूस्खलन में जमींदोज हुआ मकान, मलबे में दबकर पति, पत्नी व बेटे की मौत

हल्द्वानी। कई दिनों से रूठा चल रहा मानसून रविववार को एक बार फिर सक्रिय हो गया है। पूरे कुमाऊं में इससे जोरदार बारिश हो रही है। वहीं, बागेश्वर में अतिवृष्टि की सूचना है। जिससे वहां भूस्खलन हो गया और एक मकान के साथ उसमें रह रहे तीन लोग मलबे में दब जान गंवा बैठे। इसमें आठ साल का एक बच्चा भी है।

घटना कपकोट तहसील की तड़के तीन बजे की है। यहां के सुमगढ़ गांव के इटावन तोक में मूसलाधार बारिश हो रही है। शनिवार देर रात काे यह बारिश शुरू हुई थी। बारिश इतनी तेज थी कि भूस्खलन हो गया और एक पहाड़ी भराभराकर जमींदोज हो गई। इससे निकले मलबे ने पास ही के मकान को भी चपेट में ले लिया। उस समय मकान में गाेविंद सिंह पांडा और उनकी पत्नी खष्टी देवी और उनका आठ साल का बच्चा हिमांशु भी था। तीनों सो रहे थे। नींद में होने के कारण उन्हें इस विपदा का पता भी नहीं चला और मकान के साथ ही तीनों मलबे में दब गए।

घटना की सूचना पर सुबह करीब छह बजे एसडीआरएफ, पुलिस व चिकित्सकों की टीम मौके पर रवाना हो गई है। जगह-जगह मार्ग बंद होने के कारण बचाव व राहत कार्यों में दिक्कत आ रही है। एसडीएम कपकोट प्रमोद कुमार ने बताया कि टीम मलबे से शवों को निकालने में जुटी है। बताया जा रहा है कि बारिश के कारण गांव से आठ किलोमीटर पहले मोटर मार्ग भी बंद है, जिससे इस आपदा में राहत व बचाव कार्य में देरी हो रही है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*