नया मोड़ : अभिनेता अक्षत ने शादी से किया मना तो फ्लैटमेट स्नेहा चौहान ने कर दी हत्या, मुकदमें में पिता का सनसनीखेज आरोप

न्यूज जंक्शन 24, मुजफ्फरपुर।

शहर के नवोदित अभिनेता अक्षत उत्कर्ष की मौत मामले में नया मोड़ आ गया है। अभिनेता के पिता की तहरीर पर मुम्बई में नगर थाने में शनिवार को जीरो एफआईआर दर्ज कर ली गई। इसमें फ्लैटमेट स्नेहा चौहान, उसकी बहन और अन्य को आरोपित किया है। आरोप है कि शादी से इंकार करने पर अक्षत की हत्या कर सी गई।
केस की जांच 2009 बैच के दारोगा व अपर थानेदार अनुसंधान ईकाई रवि कुमार गुप्ता को सौंपी गई है।अब उक्त दरोगा आईजी से अनुमति लेकर मुम्बई जाकर जांच करेंगे। फिलहाल आईओ इससे संबंधित कागजी प्रक्रिया पूरी करने में जुट गए हैं। सोमवार को आईजी कार्यालय में एसएसपी के माध्यम से आवेदन देंगे।
अक्षत उत्कर्ष की मुम्बई में मौत के बाद एक अक्टूबर को पिता विजयंत किशोर ने नगर थानेदार को आवेदन सौंपा था। शनिवार को सिटी एसपी राजेश कुमार ने बताया कि अक्षत उत्कर्ष की मौत में जीरो एफआरईआर आज शनिवार को दर्ज कर ली गई है। आगे की जांच के लिए आवेदन को मुम्बई भेजा जाएगा।

27 सितंबर को हुई थी मौत:
27 सितंबर की रात अक्षत का शव मुम्बई स्थित फ्लैट के कमरे में फंदे से लटका मिला था। फ्लैटमेट स्नेहा चौहान ने अक्षत के रिश्तेदार को इसकी सूचना दी थी। 28 सितंबर को अक्षत के चाचा व एक अन्य मुम्बई गए। पोस्टामर्टम करा शव लेकर 29 सितंबर को मुजफ्फरपुर पहुंचे। पिता ने घटना को आत्महत्या मानने से इनकार करते हुए हत्या की आशंका जतायी थी। शनिवार को जीरो एफआईआर होने पर विजयंत किशोरी ने अपनी प्रतिक्रिया नहीं दी।

जीरो एफआईआर का मतलब :
जीरो एफआईआर का मतलब होता है कि यदि घटनास्थल किसी दूसरे थाना क्षेत्र या प्रदेश में है और पीड़ित किसी कारणवश घटनास्थल से जुड़े थाने के पास नहीं पहुंच सकता है तो इस स्थिति में पीड़ित अपने निकटतम थाने में आवेदन दे सकता है। उस थाने से जीरो कांड संख्या दर्जकर जांच के लिए घटनास्थल वाले थाने को आवेदन भेजा जाता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*