पूर्णागिरी आ रहे हैं तो आपके काम की है ये खबर, ऐसा करेंगे तो नहीं होगी कोई दिक्कत

हल्द्वानी । मां दुर्गा की शक्तिपीठों में एक टनकपुर स्थित पूर्णागिरी धाम में लगने वाले मेले की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बार यह 30 मार्च से लगेगा और एक महीने तक चलेगा। अगर आप यहां आने की सोच रहे हैं तो ये खबर आप के लिए बेहद खास है क्योंकि इस बार यहां पूरे महीने में केवल तीन लाख श्रद्धालु ही मां के दर्शन कर सकेंगे। यानी एक दिन में केवल 10 हजार श्रद्धालु।

दरअसल, पिछले साल कोरोना के कारण मेले को बीच में ही स्थगित कर दिया गया था। इधर, इस बार कोरोना का खतरा कुछ कम हुआ तो मेले की तैयारियां फिर शुरू कर दी गईं, मगर कोरोना के मामलों में एक बार फिर उछाल देखे जा रहे हैं। इसी के चलते चम्पावत जिला प्रशासन ने कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके मुताबिक, श्रद्धालुओं को पहले प्रशासन की वेबसाइट पर जाकर आनलाइन पंजीकरण कराना होगा। अपर जिलाधिकारी टीएस मर्तोलिया का कहना है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने एक दिन में दस हजार श्रद्धालुओं को ही दर्शन कराने का निर्णय लिया है। मेले की अवधि भी तीन से घटाकर एक महीने कर दी गई है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को वेबसाइट www.champawat.nic.in या https://mvcdeveloper.uttaraonline.in/purnagiri पर जाकर पंजीकरण कराना होगा। इसके बाद ही वे यहां आ सकेंगे। पंजीकरण न कराने वाले श्रद्धालुओं को जनपद की सीमा से ही वापस लौटा दिया जाएगा।

ऐसे होगी श्रद्धालुओं की गिनती
प्रशासन की वेबसाइट पर 10 हजार पंजीकरण पूरा होते ही उस दिन के पंजीकरण ऑटोमेटिक बंद हो जाएंगे। उसके बाद अगले दिन के लिए ही पंजीकरण किया जा सकेगा। ऐसे में इस बार यहां श्रद्धालुओं की संख्या में काफी कमी देखी जा सकती है। पिछले साल तक यहां एक दिन एक से दो लाख श्रद्धालु मां के दर्शन करते थे, जो इस बार दस गुना कम हो गया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*