10.2 C
New York
Saturday, October 23, 2021

Buy now

Uttar pradesh news : ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी की महिला प्रस्तावक के सरेआम कपड़े उतारने की कोशिश, मुख्यमंत्री योगी का घटना को लेकर चढ़ा पारा। छह पुलिस कर्मी सस्पेंड और फिर यह कसा शिकंजा

लखनऊ। लखीमपुर खीरी जिले से एक विचलित करने वाला वीडियो सामने आया है, जिसमें भाजपा कार्यकर्ताओं ने ब्लॉक प्रमुख के नामांकन के दौरान सपा प्रत्याशी के साथ न सिर्फ मारपीट की, बल्कि उसकी साड़ी उतारने की भी कोशिश की। मामले की गूंज लखनऊ तक पहुंची तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पारा चढ़ गया। उनके आदेश पर इस मामले में पुलिस अधिकारी समेत छह लोग सस्पेंड किए गए हैं। इनमें एक सीओ, दो इंस्पेक्टर और तीन सब-इंस्पेक्टर हैं। लखीमपुर-पसगवां में हुए महिला के चीरहरण मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। दूसरे आरोपी की तलाश में पुलिस ने चार टीमें लगाई हैं।

यह भी पढ़ें : ब्लॉक प्रमुख चुनाव में हिंसा, बहराइच में महिला बीडीसी मेंबर को अगवा करने की काेशिश, विरोध करने पर जेठ को मार डाला

यह भी पढ़ें : Up panchayat election : पिता के अंतिम संस्कार में जा रहा था बीडीसी सदस्य, रास्ते से कर लिया गया अगवा। फिर हुआ ऐसा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लखीमपुर खीरी जिले के पसगवां ब्लॉक की सपा प्रत्याशी रितु सिंह ने आरोप लगाया है कि बीजेपी कार्यकर्तओं ने उनकी महिला प्रस्तावक के साथ बदसलूकी की और उनके कपड़े तक फाड़ दिए। रितु सिंह ने बताया कि जब वह नामांकन पत्र दाखिल करने जा रही थीं तो रास्ते में मौजूद मोहम्मदी क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह के कार्यकर्ताओं ने उनकी प्रस्तावक के साथ मारपीट की और उनके कपड़े तक फाड़ दिए। नामांकन पत्र दाखिल करते समय उनका नामांकन पत्र भी छीनकर फाड़ दिया। इसे लेकर रितु सिंह ने एसपी को तहरीर भी दी थी।

तहरीर में उन्होंने बताया था कि वे सेमरा जानीपुर थाना पसगवां की रहने वाली हैं। गुरुवार को जब वह नामांकन कराने जा रही थीं तो भाजपा समर्थकों ने उन्हें और उनकी प्रस्तावक को रोकते हुए उन दोनों की साड़ी खींची और दुर्व्यवहार किया। इस दौरान दोनों के कपड़े तक फट गए। रितु सिंह ने आरोप लगाया है कि उनका बैग भाजपा कार्यकर्ता बृज सिंह निवासी जेबी गंज व यश वर्मा निवासी मकसूदपुर ने छीन लिया, जिसमें 7500 रुपए और जेवर थे। छीना छपटी में उनके कान के झाले आरोपियों ने नोच लिए। रितु सिंह का कहना है कि किसी तरह वह और प्रस्तावक वहां से बचकर नामांकन कक्ष में दाखिल हुईं और अपना पर्चा जमा किया। आरोप है कि आरओ से नामांकन पत्र छीनकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उसे फाड़ दिया और उन्हें नामांकन नहीं करने दिया गया।

यह भी पढ़ें : जिला पंचायत की तरह ब्लॉक प्रमुख चुनाव में न हो दल-बदल, इसलिए रामपुर के 47 बीडीसी मेंबर रामनगर में बनाए गए ‘बंधक’

बताया कि जब उनका हाल जानने एमएलसी शशांक यादव, डॉ. आरए उस्मानी और डॉ. जुबेर आदि मौके पर पहुंचे तो उन्हें बीच रास्ते में ही रोकर भाजपा कार्यकर्ता हिंसा पर आमादा हो गए और उन्हें रोक लिया। मौके पर पुलिस प्रशासन के अधिकारी और भाजपा सांसद एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेखा वर्मा तथा मोहम्मदी विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह भी मौजूद थे, लेकिन पुलिस ने उनकी कोई मदद नहीं की।

वहीं, एसपी विजय ढुल ने बताया कि तहरीर के आधार पर नामजद अभियुक्त व वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान कर उनके खिलाफ लूट, छेड़छाड़, बलवा जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles