खाने का बिल मांगा तो वन दरोगा ने ढावा संचालक की कनपटी पर रख दी बंदूक, और फिर यह हुआ

राजू अनेजा, लालकुआं।

बीती रात ट्रांसपोर्ट नगर स्थित प्रकाश ढाबे पर वन दरोगा द्वारा खाना खाने के बाद बिल नहीं देने पर विवाद इतना बढ़ गया कि वन दरोगा और ढाबा संचालक में नोकझोंक हो गई। इस दौरान वन दरोगा ने तैश में आकर ढाबा संचालक की कनपटी पर बंदूक तान कर जान से मारने की धमकी दे दी।पीड़ित ढाबा स्वामी ने कोतवाली में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है।
यहां ट्रांसपोर्ट नगर स्थित ढाबा संचालक प्रकाश कुमार ने कोतवाली में तहरीर देते हुए बताया कि गुरुवार की रात गौला रेंज में तैनात एक वन दरोगा उनके ढाबे में आए और खाना खाने के बाद बिना बिल दिए जाने लगे तो उन्होंने बिल के पैसे देने के लिए कहा। इतने में तैश में आकर वन दरोगा विरेंद्र परिहार ने उनकी कनपटी पर बंदूक तान दी तथा जान से मारने की धमकी देते हुए चले गए। उन्होंने बताया घटना से पीड़ित को जानमाल का खतरा बना हुआ है। ढाबा संचालक प्रकाश कुमार ने पुलिस से जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगाने के साथ ही आरोपी के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की मांग की है।
इधर, वन दरोगा विरेंद्र सिंह परिहार ने सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि वह गुरुवार की रात ढाबे में खाना खाने गए थे , खाना खाकर जैसे ही खाने का ₹70 बिल देने के लिए उठे तो उनकी जेब में पर्स नहीं था वह अपना पर्स घर भूल आए थे। उन्होंने ढाबे के संचालक को कहा कि तुम्हारा बिल कल पेमेंट कर देंगे लेकिन इतने में उसने चाय बनाने वाला फ्राई दान उठाकर उनके ऊपर मारने की कोशिश की इसी बीच बचाव में धक्का मुक्की हो गई। उन्होंने बताया उसी समय घर से पैसे लाकर दुकान का उन्होंने पेमेंट किया। उन्होंने कनपटी पर बंदूक रखने वाले आरोप को पूरी तरह बेबुनियाद और मनगढंत बताया। इधर पुलिस ने ढाबा संचालक की लिखित शिकायत पर मामले की गहनता से तहकीकात शुरू कर दी है।
इधर, इस बाबत जानकारी लेने पर तराई पूर्वी वन प्रभाग गौला रेंज के वन क्षेत्राधिकारी आरपी जोशी ने बताया कि इस तरह का कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*