14.9 C
New York
Wednesday, October 20, 2021

Buy now

Corona in UP : उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर इसलिए बनी घातक, सामने आया यह बड़ा कारण

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर भले ही अब जा चुकी है, मगर अप्रैल-मई में इसने हजारों लोगों को उनके अपने से हमेशा-हमेशा दूर कर दिया। यह लहर यूं ही नहीं आई। स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार के हवाले से सोमवार को जो आंकड़े जारी किए हैं, उसने सभी की चिंता और बढ़ा दी है।

केंद्र सरकार के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में दूसरी लहर में तबाही की वजह कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट रहा है। बताया गया है कि 355 सैंपल की जांच में 327 सैंपल में डेल्टा वैरियंट मिला है। ऐसे में यहां डेल्टा प्लस की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है। यही वजह है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से पूरी तरह सतर्कता बरती जा रही है । साथ ही नागरिकों से भी सावधानी बरतने की अपील की जा रही है। हालांकि केंद्र सरकार की ओर से जारी डाटा में उतर प्रदेश में डेल्टा वैरिएंट मिलने की बात पहले ही कही गई थी, मगर अब प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने भी इस बात को स्वीकार कर लिया है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि दूसरी लहर में बड़ी संख्या में डेल्टा वैरीएंट पाया गया है।

यह भी पढ़ें : corona 3rd wave : कोरोना के डेल्टा वेरिएंट पर उत्तराखंड में अलर्ट, बचने के लिए यह करें तत्काल उपाय। विशेषज्ञों ने जारी की यह चेतावनी

यह भी पढ़ें :  corona 3rd wave : कोरोना के डेल्टा वेरिएंट पर उत्तराखंड में अलर्ट, बचने के लिए यह करें तत्काल उपाय। विशेषज्ञों ने जारी की यह चेतावनी

ऐसी स्थिति में इसके नए वैरिएंट को लेकर भी सतर्क रहना होगा। विभिन्न राज्यों में डेल्टा प्लस मिल रहा है। ऐसे में यहां भी जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जा रही है। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस अड्डे पर भी लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं। विदेश से आने वाले लोगों को क्वारंटाइन किया जा रहा है।

1000 सैंपल की रिपोर्ट अभी आनी बाकी

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए 1355 सैंपल दिल्ली भेजे गए थे। इसमें 355 के रिजल्ट जारी किए गए हैं। अभी 1000 सैंपल की जांच रिपोर्ट नहीं आई है। जो रिपोर्ट जारी हुई है, उनमें 355 में 327 सैंपल में डेल्टा पाया गया है और 28 सैंपल में अल्फा वैरीएंट मिला है। मालूम हो कि दूसरी लहर में तबाही के दौरान सभी चिकित्सा विशेषज्ञ इस बात की पुष्टि कर रहे थे कि वायरस का स्वरूप बदला है और यह पहले से कहीं ज्यादा हमलावर है। इसकी प्रसार क्षमता भी अधिक है।

यह भी पढ़ें : Corona 3rd Wave : हो जाइए सतर्क, भारत में इस महीने आ रही है तीसरी लहर। स्वास्थ्य वैज्ञानिकों ने जारी की बड़ी एडवाइजरी, यह रहेगा प्रकोप

22559 लोगों की गई जान

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों पर गौर करें तो पहली लहर में करीब छह लाख तीन हजार संक्रमित हुए थे, जिसमें 8727 की मौत हुई। दूसरी लहर में मई तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16 लाख 91 हजार हो गई। जबकि मृतकों की संख्या 20 हजार से अधिक रही। अब कुल संक्रमितों की संख्या 17 लाख पांच हजार हो गई है और मृतकों की संख्या 22559 है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles