बढ़ता वजन छीन रहा संतान सुख, रोजाना व्यायाम से रहेंगे फिट

बरेली। अगर आप मोटे हैं तो खुद को स्वस्थ और सेहतमंद समझने की भूल न करें। खराब जीवन शैली के कारण लोगों में मोटापा बढ़ रहा है। इसके कारण महिलाओं में बांझपन की समस्या बढ़ रही है। पुरुष भी बढ़ते वजन के कारण नपुंसकता के शिकार हो रहे हैं।
आराम तलब जीवनशैली और फास्ट फूड खाने से मोटापा बढ़ रहा है। मोटापा कई बीमारियों की वजह है। इससे मधुमेह, हृदय रोग, कैंसर के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग इसके शिकार हो रहे हैं। इसके कारण पुरुष व महिला दोनों ही बांझपन के शिकार हो रहे हैं। देश में करीब 15 से 18 फीसदी दंपति नि:संतान हैं।
महिलाओं में बांझपन की वजह है मोटापा
स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. मृदुला शर्मा ने बताया कि देश में करीब दो करोड़ लोग नि:संतान हैं। इनमें से औसतन हर छठे परिवार की महिलाएं या पुरुष मोटापा की शिकार हैं। मोटापा महिलाओं में बांझपन की प्रमुख वजह है। इसके कारण महिलाओं अंडे कम बनते हैं। ओवरी में सिस्ट हो जाती है। महिलाओं में गर्भ नहीं ठहरता। बार-बार एर्बाशन हो जाता है। शुगर का लेवल बढ़ने से मां के गर्भ में बच्चे की मौत हो जाती है।
पुरुषों में कम बनता है स्पर्म
डॉक्टरों के मुताबिक, शहरों में 50 फीसदी लोग मोटापे से ग्रस्त हैं। बीते एक दशक में पुरुषों में नपुंसकता बढ़ी है। इसके लिए बदलती जीवनशैली, खानपान की अनियमितता और शारीरिक गतिविधियों में कमी जैसे कारक जिम्मेदार हैं। फास्ट-फूड कल्चर से पुरुषों में मोटापा बढ़ा है। इससे शुगर लेवल बढ़ जाता है। पुरुषों में स्पर्म कम बनते हैं। शुगर लेवल बढ़ने के कारण स्पर्म कमजोर हो जाते हैं। महिला से संबंध बनाने की इच्छा कम हो जाती है।
मोटापा कम कर पा सकते हैं संतान सुख
संतान सुख पाने के लिए दंपति को बढ़ते वजन पर नियंत्रण रखना ही होगा। इसके लिए घरेलू उपाय कारगर हैं। रोजाना कसरत और संतुलित आहार से मोटापा नियंत्रित हो सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*