अंधविश्वास : ट्यूशन पढ़ने घर आने वाले 13 साल के बच्चे से की शादी, फिर हुई ‘विधवा’

जालंधर। पंजाब के जालंधर में अंधविश्वास का हैरान करने वाला सामने आया है। यहा के बस्ती बावा खेल थानाक्षेत्र में मांगलिक युवती की शादी उसके ही 13 साल के एक छात्र से कर दी गई। इसके बाद महिला ‘विधवा’ भी हो गई। मामला पुलिस तक पहुंचा तो वह भी इसे सुनकर हैरान रह गई।

जालंधर के बस्ती बावा खेल थाने में 13 साल का एक बच्चा युवती के पास ट्यूशन पढ़ता था। एक दिन युवती ने बच्चे के परिवार से कहा कि वह बच्चे को अपने पास ही कुछ दिन के लिए रख लेगी। यहीं रहकर वह तैयारी भी कर लेगा जिससे पेपर में उसके अच्छे नंबर आ जाएंगे। परिवार ने बताया कि बेटे के भविष्य को देखते हुए वह मान गए और दस दिन के लिए बेटा युवती के घर पर रहा।

इसके बाद जब बच्चा अपने घर लौटा तो उसने परिवार को जो बताया, उससे घर के लोग दंग रह गए। बच्चे के परिवार ने आरोप लगाया कि किसी पंडित ने युवती के घरवालों को बताया था कि उनकी बेटी मांगलिक है और इस दोष को दूर करने के लिए उन्हें बेटी की किसी बच्चे से शादी करानी होगी। शादी की सारी रस्में निभाने के बाद विधवा बनकर विलाप भी करना होगा। ऐसा करने पर ही उनकी बेटी की कुंडली से ये दोष निकलेगा।

पंडित के कहने के बाद युवती के परिजनों ने उसकी शादी ट्यूशन पढ़ने आने वाले बच्चे से करा दी। पंडित की योजना के मुताबिक शादी की सभी रस्में निभाने के बाद बच्चे को सुहागरात के लिए कमरे में भी ले जाया गया और कुछ दिन बाद विधवा होने का नाटक किया गया। पुलिस जांच में सामने आया कि शादी की रस्में व मौत का यह सारा नाटक पांच से छह दिन तक चला। बच्चा उतने दिन उनके घर पर ही रहा। बच्चे से घर के काम भी कराए गए।

बच्चे के परिवार की शिकायत के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने बुलाकर समझौता करा दिया है। पुलिस ने मौके पर ही दूसरे पंडित को बुलवाकर परिवार को ये भी बताया कि ये सब अंधविश्वास है। डीसीपी गुरमीत सिंह का कहना है कि उनको इस मामले की जानकारी नहीं है लेकिन वह इसकी जांच कराएंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*