पीएम नरेंद्र मोदी से मिले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश की राजनीति में बदलाव की चल रही बड़ी कसरत। जानिए क्या बन रहे समीकरण

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के सियासी घटनाक्रम का शुक्रवार को अहम दिन रहा। प्रदेश की सियासत में किसी तरह की परिवर्तन की अटकलों के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच दिल्ली में बैठक पूरी हो गई है। करीब सवा घंटे तक चली इस बैठक को लेकर चर्चा है कि योगी और मोदी के बीच मिशन 2022 को लेकर मंथन हुआ है। साथ ही प्रदेश के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भी चर्चा हुई।

सीएम योगी आदित्यनाथ 10 जून को ही नई दिल्ली पहुंच गए थे। बीते दिन उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। वहीं, शुक्रवार को वह यूपी भवन से निकलकर करीब 10:45 बजे पीएम आवास पहुंचे और पीएम मोदी से उनकी बातचीत शुरू हुई। करीब सवा घंटे चली इस बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि बैठक में यूपी के मिशन 2022 पर चर्चा हुई। कैबिनेट में किन नए चेहरों को जगह दी जानी हैं, इस पर भी मुहर लगी।

दावा किया जा रहा है कि दो दिन पहले कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले जितिन प्रसाद को मंत्री बनाया जा सकता है। इसके लिए अगले महीने ही उन्हें एमएलसी बनाया जा सकता है। वहीं, बीते दिनों भाजपा में शामिल हुए पूर्व आईएएस अरविंद कुमार शर्मा के भी मंत्री बनने की अटकलें तेज हो गई हैं। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद बाद सीएम योगी अब भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक करने के लिए उनके आवास पर पहुंच चुके हैं। वहीं दोपहर करीब डेढ़ बजे उन्होंने राष्ट्रपति कोविंद से भी मुलाकात का वक्त मांगा है।

अमित शाह से डेढ़ घंटे तक चली थी बात

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ करीब डेढ़ घंटे तक बैठक की थी। बताया जा रहा है कि उस दौरान 2022 के लिए रोडमैप और संभावित कैबिनेट विस्तार पर भी चर्चा हुई।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*