12.9 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

सरकार के इस रवैये से मंत्री हरक सिंह रावत को आया गुस्सा, कैबिनेट मीटिंग में नहीं सुनी गई बात

देहरादून। उत्तराखंड में उपनल कर्मियों के वेतनमान पर मंत्रिमंडलीय उप समिति की रिपोर्ट एक बार फिर कैबिनेट की बैठक में नहीं रखी गई। बताया जा रहा है कि इस बात को लेकर मंत्री हरक सिंह रावत नाराज हो गए हैं। यह दूसरा मौका है जब कैबिनेट की बैठक में हरक सिंह की रिपोर्ट को तवज्जो नहीं दी गई है।

धामी कैबिनेट की बैठक के दौरान 24 मामलों पर मंत्रिमंडल ने अपनी मोहर लगा दी है। वहीं, उपनल कर्मियों के वेतनमान को लेकर जो सबसे ज्यादा उम्मीदें लगाई जा रही थीं, मगर इस मुद्दे पर कैबिनेट में अंतिम फैसला नहीं हो पाया है। मीडिया रिपोट्र्स में दावा किया गया है कि हरक सिंह रावत ने उपनल कर्मियों के वेतन बढ़ोतरी को लेकर कैबिनेट की बैठक में जोरदार पैरवी की और मंत्रिमंडल से इस मामले पर निर्णय लेने के लिए दबाव भी बनाया, लेकिन अधिकारियों के अपने तर्कों के चलते एक बार फिर उपनल कर्मियों को कैबिनेट की बैठक से निराश होना पड़ा।

वैसे इससे पहले हुई कैबिनेट की बैठक में भी हरक सिंह रावत ने गहरी नाराजगी जाहिर करते हुए यह साफ किया था कि जब मंत्रिमंडलीय समिति ने उनकी अध्यक्षता में रिपोर्ट तैयार कर दी है तो फिर शासन के अधिकारी क्यों प्रस्ताव को कैबिनेट में नहीं पेश कर रहे, जिस पर कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत की इसी नाराजगी को देखते हुए अगली कैबिनेट में उपनल कर्मियों की रिपोर्ट रखे जाने का फैसला हुआ था। मगर इस बार फिर कैबिनेट में इस मामले को टाल दिया गया और अब अगली कैबिनेट में इस पर विचार किए जाने की बात कही जा रही है।

अब हरक सिंह रावत इस बात से नाराज दिख रहे हैं कि उपनल कर्मियों के वेतनमान में बढ़ोतरी का जो फैसला मंत्रिमंडल उप समिति की तरफ से लिया गया था, उस पर आखिर क्यों धामी सरकार फैसला नहीं ले पा रही है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles