spot_img

पबजी के लिए मां की हत्या, कत्ल के बाद घर में दोस्तों संग की पार्टी, बदबू छिपाने का डाला रूम फ्रेशनर

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ। शहर में हत्या का बेहद सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां दसवीं में पढ़ने वाले एक लड़के को पबजी की इस कदर लत लग गई कि रोकने-टोकने पर उसने अपनी मां की ही गोली मारकर हत्या कर दी। यही नहीं, उसने अपनी बहन को भी धमकी दी कि वह अपना मुंह न खोले। हद तो तब हो गई जब उसने अपने इस जुर्म पर पर्दा डालने के लिए तीन दिन तक अपनी मां की लाश पर रूम फ्रेशनर डालता रहा ताकि उसमें से बदबू न आए और साथ ही ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसे ठिकाने लगाने की कोशिश करता रहता।

लड़का इस दौरान बिल्कुल सामान्य हरकत करता रहा, मानो कुछ हुआ ही न हो। वह दोस्तों के साथ खेलता भी रहा, उन्हें घर में बुलाकर फिल्म देखी, घर में बनाकर खाना भी खाया। हालांकि इस दौरान मंगलवार शाम घर से बदबू आने लगी, जिसके बाद उसे डर लगने लगा। फिर उसने शव पर केमिकल डालकर डिस्पोज करने की कोशिश की। उसने आसनसोल में तैनात पिता को कॉल कर सूचना दी कि मां को किसी ने मार दिया।

हम दोनों को कमरे में बंद कर दिया था। किसी तरह बाहर निकले है। इस पर पिता नवीन सिंह ने पड़ोसी दिनेश तिवारी को कॉल कर घर पर वारदात होने की जानकारी दी। दिनेश जब नवीन के घर पर पहुंचे तो वहां दोनों बच्चे बरामदे में थे। उन्होंने पूछताछ की तो बताया कि किसी ने मां को मार दिया है। जब दिनेश कमरे में गये तो वहां बदबू से खड़ा नहीं हो सके। इस पर उन्होंने तत्काल पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों बच्चों को बाहर ले गई। वहीं कमरे को सील कर दिया। शव की पड़ताल शुरू कर दी।

लखनऊ के एडीसीपी पूर्वी क़ासिम आब्दी ने बताया कि पीजीआई थाना क्षेत्र के एक मकान से बदबू आने की सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची तो कमरे में करीब 40 साल की एक महिला साधना सिंह का शव मिला। लाश के पास ही एक पिस्टल पड़ी थी। मृतका साधना के पति सेना में जेसीओ हैं, जो फिलहाल पश्चिम बंगाल के आसनसोल जिले में तैनात हैं। पीजीआई इलाके में साधना अपने 16 साल के बेटे और 10 साल की बेटी के साथ रहती थी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस मामले में पहले मृतका के 16 साल के बेटे से पूछताछ की तो उसने बताया कि घर में बिजली का काम करने आए एक व्यक्ति ने उसकी मां की हत्या की है। पुलिस को लड़के की बातों पर शक हुआ तो उसने मृतका की 10 साल की बेटी को भरोसे में लेकर पूछताछ की, जिसने उन्हें सारी बात बताई।

एडीसीपी कासिम आब्दी के मुताबिक, इस लड़के को मोबाइल गेम और सोशल मीडिया की लत लग चुकी थी। उसकी मां साधना उसे मोबाइल से दूर रहने को कहती रहती थी। रविवार दोपहर भी मां ने बेटे को मोबाइल पर पबजी खेलने को लेकर खूब डांट लगाई थी। इसके बाद रविवार को दिन में करीब 3 बजे जब साधना सो गई थी, तब अपने पिता की लाइसेंसी पिस्टल से बेटे ने अपनी मां को गोली मार दी। इसके बाद उसने अपनी 10 साल की बहन को भी धमकाते हुए मुंह बंद रखने को कहा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!