मुख्तार की बढ़ी मुश्किलें, यूपी सरकार उठाने जा रही यह कदम, पूरी हुई मंशा तो खत्म हो जाएगा सियासी राज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश आने के बाद बाहुबली विधायक और माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। अब उत्तर प्रदेश मुख्तार की विधानसभा सदस्यता खत्म करवाने को लेकर विधिक राय ले सकती है। पिछले 24 साल से लगातार विधायक मुख्तार अंसारी की अगर विधानसभा सदस्यता जाती है तो उत्तर प्रदेश के लिए एक बड़ी कामयाबी होगी।

यह भी पढ़ें : UP : बांदा जेल लाया गया मुख्तार, यहां पहुंचते ही हुआ यह हाल, होने लगी चर्चा, देखें वीडियो

यह भी पढ़ें : UP Panchayat Election : चुनाव लड़ने के लिए आनन-फानन बिना मुहुर्त की शादी, अब मुंह दिखाई में मांग रही वोट

कानून के मुताबिक, अगर कोई विधानसभा सदस्य विधानसभा की कार्यवाही में शामिल होने से 60 दिन तक अनुपस्थित रहता है तो आर्टिकल 190 के तहत उसकी सदस्यता ख़त्म हो सकती है। इस आर्टिकल 190 के अलावा मुख़्तार के ख़िलाफ़ दर्ज आपराधिक मामलों को भी सदस्यता ख़त्म करने का आधार यूपी सरकार बनाएगी।

मुख्तार अंसारी पर प्रदेश में 52 मुकदमे दर्ज हैं, जिसमें 15 ट्रायल स्टेज पर हैं। मुख्तार पर बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कराने का भी आरोप लगा था। इस मामले की जांच सीबीआई ने की थी, लेकिन गवाहों के मुकर जाने के लिए मुख्तार अंसारी इस केस में बरी हो गया है।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*