12.9 C
New York
Sunday, October 24, 2021

Buy now

Narendra Giri Update : वीडियो के जरिए महंत को किया जा रहा था ब्लैकमेल, फंदे से शव उतारने वाला शिष्य भी पूछताछ के दौरान हुआ बेहोश

लखनऊ। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की रहस्यमय तरीके से मौत मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अब कहा जा रहा है कि महंत को किसी वीडियो को लेकर ब्लैकमेल किया जा रहा था। इससे वह काफी परेशान थे। इस वीडियो में क्या था और किस प्रकार से इसका प्रयोग कर उन्हें परेशान किया जा रहा है, इस बात का खुलासा अभी नहीं हो सका है।

इधर, पुलिस लगातार जांच को आगे बढ़ा रही है। पुलिस ने उस शिष्य से भी पूछताछ की है, जिसने सबसे पहले उन्हें फंदे से लटका पाया था और शव को उतारा था। इस पूछताछ के दौरान शिष्य की अचानक तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो गया।

सीबीआई जांच के लिए हाईकोर्ट में याचिका

महंत नरेंद्र गिरी की रहस्यमयी मौत की सीबीआई जांच की मांग करती एक याचिका हाई कोर्ट में दायर की गई है। यह याचिका अधिवक्ता सुनील चौधरी की ओर से डाली गई है। याचिका के माध्यम से जिले के डीएम और एसएसपी को तत्काल बर्खास्त कर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई को सुपुर्द करने की मांग की गई है। अधिवक्ता की ओर से कुछ अधिकारियों पर भी इस मामले में मिलीभगत होने का आरोप लगाया है। कहा कि बिनी सीबीआई के पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच नहीं की जा सकती। स्थानीय पुलिस अधिकारी मामले में लीपापोती कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : महंत नरेंद्र गिरि सुसाइड Update : हरिद्वार पहुंचकर शिष्य आनंद गिरी को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार, ले गई साथ

यह भी पढ़ें : प्रयागराज आश्रम में फंदे से लटका मिला अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का शव, कठघरे में उनका शिष्य। पढ़िये रहस्यमयी मौत…

सपा नेता का नाम भी आ रहा है सामने, तीन लोग हो चुके हैं गिरफ्तार

पुलिस ने माैके से बरामद सुसाइड नोट के अाधार पर महंत के सबसे करीबी शिष्य रहे आनंद गिरी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। वहीं संगम किनारे स्थित लेटे हुए हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी और उसके पुत्र संदीप तिवारी को भी नामजद करते हुए गिरफ्तार किया गया है। इस घटना में एक सपा नेता भी नाम सामने आ रहा है। हालांकि पुलिस ने अभी सपा नेता का नाम नहीं बताया है, बस इतना ही कहा है कि मामले से जुडे़ सभी लोगों की निगरानी की जा रही है। पूछताछ के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

योगी ने किया अंतिम दर्शन, बोले, हर रहस्य का होगा पर्दाफाश

महंत के अंतिम संस्कार की तैयारियां अब शुरू हो गई हैं। उनके पार्थिव शरीर को बाघंबरी गद्दी मठ में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव चंद्र मौर्य, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित कई लोग दर्शन के लिए पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंतिम दर्शन के बाद कहा कि महंत नरेंद्र गिरि से जुड़े हर घटना का पर्दाफाश होगा। उनका पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने इस मामले में बेवजह की बयानबाजी से परहेज करने को कहा है।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles