UP में नाइट कर्फ्यू में मिली और ढील, सरकार ने समय दो घंटे और घंटाया, अब इतने समय तक रहेगा प्रतिबंध

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी के कारण लागू रात्रिकालीन कर्फ्यू का समय दो घंटे और कम कर दिया गया है। यह अब रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। इसे लेकर रविवार को उत्तर प्रदेश शासन की ओर से आदेश जारी किए गए हैं। इससे पहले ये रात 9 बजे से सुबह 7 बजे तक था। प्रदेश सरकार ने कोरोना मामलों में कमी के बाद 21 जून से नई गाइडलाइंस जारी की थी। हालांकि वीकेंड कर्फ्यू पहले की तरह ही जारी रहेगा। प्रदेश में इससे पहले कोविड प्रोटोकॉल के पालन के साथ रेस्टोरेंट व मॉल को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जा चुका है। इसी तरह, पार्क, रेहड़ी पर लगने वाली दुकानें आदि के संचालन की अनुमति भी दी गई थी।

यह भी पढ़ें : सीएम योगी ने जारी की नई जनसंख्या नीति 2021-30, कहा- यूपी को घटानी ही होगी प्रजनन दर

यह भी पढ़ें : UP में जनसंख्या विधेयक का ड्राफ्ट तैयार, दो से ज्यादा बच्चे हुए तो नहीं मिलेगी नौकरी-प्रमोशन, पढ़ें और क्या प्रावधान हैं इस ड्राफ्ट में

ये है कोरोना के मामलों के हालात

प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या के साथ ही मृत्यु दर में भी कमी आई है, वहीं इलाज के बाद सही हुए मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। प्रदेश में अब तक 6 करोड़ 6 लाख 17 हजार से अधिक टेस्ट हो चुके हैं। यह देश में किसी एक राज्य द्वारा की गई सर्वाधिक कोविड टेस्टिंग है। विगत दिवस 29 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 45 राज्यों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। केवल एक ही जनपद ऐसा रहा जहां दहाई अंक में कोविड संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति के बाद भी एग्रेसिव टेस्टिंग जारी रखी जाए।

वहीं, बीते 24 घंटे में 125 नए मरीजों की पुष्टि हुई है, जबकि 134 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। 30 अप्रैल के बाद से एक्टिव केस में लगातार गिरावट हो रही है और वर्तमान में 1,594 एक्टिव केस हैं। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर और बेहतर होकर 98.6% हो गई है। अब तक 16 लाख 83 हजार से अधिक प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*