अब विधायक नहीं रहना चाहते कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, जेपी नड्डा से जता दी यह इच्छा। पढ़िये क्यों

 

देहरादून। प्रदेश में सत्ता व संगठन का चेहरा बदलने के बाद अब नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को चुनाव लड़ाने के लिए सीट के चयन पर चर्चा तेज हो चली है। बदरीनाथ के विधायक के बाद अब कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने मुख्यमंत्री से कोटद्वार सीट से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव रख दिया है। उन्होंने अपनी इस मंशा से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भी अवगत करा दिया है। साथ ही यह भी कह दिया है कि मुख्यमंत्री तीरथ रावत के गढ़वाल सीट छोड़ने पर भाजपा चाहे तो उनको सांसद के लिए टिकट दे सकती है।
कैबिबेट मंत्री हरक सिंह रावत कोटद्वार सीट से विधायक हैं और कैबिनेट मंत्री भी हैं। पिछली सरकार में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटाने और उनके स्थान पर किसी और को बैठाने से हरक त्रिवेंद्र सिंह रावत से ज्यादा संतुष्ट नहीं थे। चर्चा है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के हटने से हरक सिंह रावत को भी काफी राहत मिली है। अब नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से वह अपने संबंध मधुर रख आगे बढ़ना चाहते हैं। इसीलिए हरक सिंह रावत से विधानसभा सीट मुख्यमंत्री के लिए खाली करने की पेशकश कर दी है, साथ ही यह भी कह दिया है कि उनको गढ़वाल सीट से भाजपा चुनाव लोकसभा चुनाव लड़ा सकती है। अब देखना है कि हरक सिंह रावत के प्रस्ताव पर भाजपा हाईकमान कितना ध्यान दे पाता है। फिलहाल सियासी खेमे में नई चर्चा शुरू हो गई है कि हरक सिंह रावत सूबे की राजनीति से किनारा कर केंद्र की राजनीति में जाना चाहते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*