spot_img

सियासी गठबंधन : चुनाव जीतने पर अखिलेश बनेंगे CM तो ये बन सकते हैं डिप्टी CM

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ । विधानसभा चुनाव को कुछ ही महीने रह गए हैं। इसे देखते हुए सियासी दल अपनी बिसात बिछाने में जुट गए हैं। छोटे दल भी इसमें पीछे नहीं हैं। वह बड़े सियासी दलों के साथ मिलकर गठबंधन सरकार बनाने में मदद (Political alliance) का भरोसा देकर अपने लिए भी जमीन तलाश रही हैं। इसी क्रम में कल रालोद मुखिया जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने सपा मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात की।

रालोदी यानी राष्ट्रीय लोक दल की पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अच्छी पैठ है। पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन के कारण जाट भाजपा से नाराज हैं। इसलिए जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) इसे अपने लिए मौका मान रहे हैं और वह समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ने को तैयार हैं। सपा मुखिया अखिलेश यादव भी इस बात को अच्छी तरह जानते हैं, इसलिए उन्होंने गठबंधन करने से इन्कार नहीं किया। मंगलवार का दोनों दलों के नेताओं ने एक-दूसरे से मुलाकात की।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के विक्रमादित्य मार्ग स्थित आवास पर राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Choudhary) उनसे मिलने पहुंचे। अखिलेश यादव के साथ मुलाकात के बाद रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी दिल्ली के लिए रवाना हो गए। मुलाकात के बाद वह मीडिया से बचते हुए नजर आए। जयंत चौधरी और अखिलेश यादव ने खुद ट्वीट कर मुलाकात के बारे में जानकारी दी। जयंत ने लिखा बढ़ते कदम तो अखिलेश यादव ने लिखा – जयंत के साथ बदलाव की ओर।

करीब 2 घंटे चली बातचीत

अखिलेश यादव और जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) के बीच करीब दो घंटे तक बातचीत चली। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने चुनाव जीतने के बाद खुद के लिए डिप्टी सीएम पद की मांग की है। इतना ही नहीं, करीब 3 दर्जन सीटों पर दोनों दलों के बीच सहमति भी बन चुकी है। अब जल्द ही गठबंधन के तहत सीटों के बंटवारे का औपचारिक एलान किया जा सकता है।

जयंत ने मांगी थी 62 सीटें

चर्चा है कि राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन की बातचीत के शुरुआती दौर में 62 सीटों की डिमांड की थी। इस पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव रालोद को तीन दर्जन सीटें देने पर राजी हो गए हैं। कई सीटों पर रालोद की तरफ से दावेदारी ठोकी जा रही है, जिन सीटों को लेकर अखिलेश यादव अभी सहमत नहीं हुए हैं। जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय लोकदल पश्चिमी यूपी में अपने प्रभाव वाले विधानसभा क्षेत्रों के साथ ही पूर्वांचल और अवध की कुछ सीटों पर दावेदारी ठोक रहा है। ऐसे में सीटों को लेकर पेच फंसा हुआ था।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles