spot_img

UP : बेटी को टिकट दिलाने के लिए बाप ने करा दी सपा नेता की निर्मम हत्या

न्यूज जंक्शन 24, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में सपा नेता फिरोज पप्पू की हत्या (SP leader Murder) में बड़ा और सनसनीखेज खुलासा हुआ है। फिरोज पप्पू की हत्या की साजिश में पूर्व सांसद रिजवान जहीर, उनकी बेटी जेबा रिजवान और दामाद रमीज गिरफ्तार किए गए हैं। इसके अलावा हत्याकांड में शामिल तीन अन्य आरोपियों महफूज, मेराज और शकील को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूर्व सांसद रिजवान जहीर समाजवादी पार्टी से दो बार सांसद रह चुके हैं। 2 माह पूर्व रिजवान जहीर ने पुनः समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी, तभी से तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन फिरोज पप्पू और रिजवान जहीर के बीच गुटबाजी खुलकर सामने आ गई थी और दोनों में राजनीतिक वर्चस्व को लेकर जंग भी शुरू हो गई थी।

4 जनवरी 2022 को तुलसीपुर थाना क्षेत्र के जरवा रोड स्थित फिरोज पप्पू के घर के पास ही उनकी बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। हत्यारों ने घर की तरफ जा रहे फिरोज पप्पू के सिर पर वार किया और उसके बाद गला रेत कर उनकी हत्या कर दी थी। छह दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए पूर्व सांसद रिजवान जहीर समेत छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि 4 जनवरी की रात करीब 10:20 बजे जब सपा नेता फिरोज अहमद उर्फ फिरोज पप्पू अपने घर की तरफ जा रहे थे, तभी मेराजउल हक उर्फ मामा तथा महफूज ने लोहे की रॉड और चाकू से उन पर हमला कर दिया था। महफूज ने लोहे की रॉड से फिरोज पप्पू के सिर पर प्रहार किया, जिससे वह जमीन पर गिर गए। तभी मेहराज ने चाकू से उनका गला रेत दिया (SP leader Murder)। फिरोज अहमद उर्फ फिरोज पप्पू की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी।

बेटी के लिए टिकट चाहते थे रिजवान

एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि फिरोज अहमद उर्फ फिरोज पप्पू तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन थे, जबकि वर्तमान में उनकी पत्नी कहकशा चेयरमैन हैं। फिरोज पप्पू और रिजवान जहीर दोनों ही समाजवादी पार्टी का टिकट पाने की होड़ में लगे थे। रिजवान जहीर अपनी बेटी जेबा के लिए समाजवादी पार्टी से टिकट की पैरवी कर रहे थे, जबकि फिरोज पप्पू भी तुलसीपुर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी से टिकट के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। इसी राजनीतिक विद्वेष के कारण रिजवान जहीर, उनकी बेटी जेबा, दामाद रमीज तथा शकील ने पूर्व चेयरमैन फिरोज पप्पू की हत्या का षडयंत्र बनाया और इस अपने नजदीकी मेहराज और महफूज के जरिए हत्या (SP leader Murder) करा दी।

एक महीने पहले हो गई थी प्लानिंग

एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि फिरोज पप्पू की हत्या (SP leader Murder) की साजिश करीब एक माह पूर्व ही रची गई थी। इस दौरान उन्हें तीन बार मारने का प्रयास किया गया, मगर आरोपी कामयाब नहीं हुए। 4 जनवरी को जब फिरोज पप्पू लखनऊ से लौटे तो रमीज ने शकील के माध्यम से मेराज उल हक उर्फ मामा तथा महफूज को अपनी कोठी पर बुलाया और काम पूरा करने के लिए कहा। उसी दिन शाम को जब फिरोज पप्पू अपने मित्र शाहिद के साथ घर से निकले, तभी से मिराज और महफूज घात लगाकर बैठे हुए थे। फिरोज पप्पू के घर लौटने से कुछ कदम पहले ही अंधेरी गली में उनकी हत्या (SP leader Murder) कर दी गई।

से ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

हमारे फेसबुक ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !!