spot_img

बंद हो गए केदारनाथ मंदिर के कपाट, अब शीतकाल में यहां होगा प्रवास

न्यूज जंक्शन 24, देहरादून। उत्तराखंड के चार धामों में शामिल भगवान केदारनाथ मंदिर (Kedarnath Temple) के कपाट आज भैया दूज पर्व पर बंद हो गए। वृश्चिक राशि अनुराधा नक्षत्र में तीर्थ केदारनाथ (Kedarnath Temple)  के पुरोहितों ने समाधि पूजा संपन्न कराई, जिसके बाद विधि-विधान से शीतकाल के लिए मंदिर के कपाट बंद किए गए।

भगवान शिव के 11वें ज्योतिर्लिंग में शामिल केदारनाथ (Kedarnath Temple) के कपाट बंद करने की प्रक्रिया बह्ममुहूर्त में ही शुरू हो गई थी। ऐसे में सुबह 6 बजे मुख्य पुजारी बागेश लिंग ने केदारनाथ धाम के दिगपाल भगवान भैरवनाथ का आह्वान कर धर्माचार्यों की उपस्थिति में स्यंभू शिवलिंग को विभूति व शुष्क फूलों से ढककर समाधि रूप में विराजमान किया। इसके बाद ठीक सुबह 8 बजे केदारनाथ मंदिर (Kedarnath Temple) के मुख्य द्वार के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु कपाट बंद होने के साक्षी बने।

यह भी पढ़ें : बेहद खास है केदारधाम में स्थापित शंकराचार्य की प्रतिमा, जानें इसके बारे में सब कुछ

यह भी पढ़ें : देवस्थानम बोर्ड का बढ़ा विरोध तो पुरोहितों को मनाने केदारनाथ धाम पहुंचे CM धामी

ऊखीमठ के लिए रवाना हुई पंचमुखी डोली

इस मौके पर बर्फ की सफेद चादर ओढ़े केदारनाथ धाम (Kedarnath Temple) से पंचमुखी डोली ने सेना के बैंड बाजों की भक्तिमय धुनों के बीच मंदिर की परिक्रमा कर विभिन्न पड़ावों से होते हुए शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ के लिए प्रस्थान किया। आज पंचमुखी डोली का रात्रिप्रवास अपने पहले पड़ाव रामपुर में होगा, जिसके बाद कल 7 नवंबर को डोली विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी प्रवास के लिए पहुंचेगी। वहीं, 8 नवंबर को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी डोली के पंच केदार गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में विराजमान हो जाएगी, जहां शीतकाल में श्रद्धालु बाबा केदार (Kedarnath) के दर्शन और पूजा अर्चना कर सकेंगे।

20 को बंद होगा बदरीनाथ के कपाट

गौरतलब है कि उत्तराखंड के चारधामों में श्री गंगोत्री धाम के कपाट 4 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद हो गए थे, जबकि श्री यमुनोत्री धाम के कपाट आज दोपहर में बंद होंगे। वहीं, 20 नवंबर शनिवार को भगवान बदरीविशाल के कपाट शीतकाल के लिए बंद होंगे, जिसके बाद 22 नवंबर भगवान मद्महेश्वर जी के कपाट बंद होंगे। वहीं, 25 नवंबर को उखीमठ में मद्महेश्वर मेला का आयोजन किया जाएगा। इस बार साढ़े चार लाख से अधिक तीर्थ यात्री चारधाम यात्रा के लिए पहुंचे थे, जिनमें से दो लाख चालीस हजार से अधिक लोगों ने भगवान केदारनाथ (Kedarnath Temple) के दर्शन किए।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles