शाही स्नान : हर की पैड़ी पर हर-हर की गूंज, किन्नर अखाड़ा पहली बार हरिद्वार कुंभ में हुआ शामिल

हरिद्वार। हरिद्वार में कुंभ मेला शुरू हो चुका है। गुरुवार को महाशिवरात्रि के अवसर पर यहां पहला शाही स्नान हुआ। इस दौरान हरकी पौड़ी पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। रात 12 बजे से ही श्रद्धालु गंगा तट पर हरकी पैड़ी पहुंच गए और डुबकी लगाई। सात संन्यासी अखाड़ों के संत ने सुबह स्नान किया। सुबह 10 बजे सबसे पहले जूना अखाड़े से जुड़े संतों ने गंगा में डुबकी लगाई। जूना अखाड़े के साथ आह्वान, अग्नि और किन्नड अखाड़ा ने भी किया स्नान। इसके बाद श्री निरंजनी, श्री आनंद, श्री महानिर्वाणी, अटल अखाड़ों के संतों ने डुबकी लगाई। आईजी कुंभ संजय गुंज्याल का दावा है कि बुधवार रात 12 बजे से अब तक 22 लाख से ज्यादा लोगों ने स्नान किया है।

उन्होंने बताया कि संतों के स्नान से पहले सुबह करीब सात बजे हरकी पैड़ी घाट खाली करवा दिया गया था। सुबह 10 बजे से अखाड़ों के संतों ने स्नान करना शुरू किया। श्रद्धालु हरकी पैड़ी क्षेत्र छोड़कर अन्य घाटों पर स्नान कर रहे हैं। सबसे पहले जूना अखाड़ा के संतों ने स्नान किया। आह्वन अखाड़ा स्नान के लिए हरकी पैड़ी पहुंचा। इसके बाद आह्वान अखाड़े और फिर किन्नर अखाड़े ने शाही स्नान किया। किन्नर अखाड़ा पहली बार हरिद्वार कुंभ में शामिल हो रहा है। शाही स्नान के लिए उत्तराखंड पुलिस के बैंड ने नमो शिवाय की धुन बजाकर साधुओं का स्वागत किया। हर की पौड़ी पर आज सिर्फ साधु-संत ही स्नान कर रहे हैं। रथों पर सवार होकर अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर और महामंडलेश्वर हरकी पैड़ी पहुंचे। शाम 6:30 बजे तक दसनामी सन्यासी अखाड़ों के साधु संत महामंडलेश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्नान करेंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*