चोरी के शक में युवक को पेड़ से बांधकर पीटा, इतना पीटा कि मर ही गया। अब मचा बबाल

न्यूज जंक्शन 24, आंवला (बरेली)

नलकूप कालोनी परिसर से मोटर चोरी के शक में लोगों ने पेड़ से बांधकर युवक को पीटा। बाद में पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने उसे थाने से छोड़ दिया। घर पहुंचकर उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना से भारी भीड़ जमा हो गई, लोग इकट्ठे होकर नलकूप कालोनी घेरने पहुंच गए, जहां से पुलिस ने उन्हें खदेड़ा। बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और उस क्षेत्र में तीन थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है। एसपी देहात, एसडीएम, सीओ घटना स्थल पर पहुंचे।

नगर के मोहल्ला किला तेली वाली गली का 35 वर्षीय वासिद पुत्र गौस मोहम्मद टैंट पर मजदूरी का काम करता था। शुक्रवार सुबह लगभग 11 बजे वह एक ई रिक्शे पर लोहे की किबाड़ रखकर ले जा रहा था। उसने नलकूप कालोनी के गेट के समीप एक पानी की मोटर रखी देखी, तो उसे भी उठा लिया। इस पर कालोनी में रहने वाले और अन्य लोगों ने दौड़कर उसके रिक्शे को पकड़ लिया, उसे पेड़ से बांधकर पीटा, बाद में पुलिस बुलाकर युवक को उनके हवाले कर दिया। पुलिस कर्मी उसे थाने ले गए। नशेड़ी जैसी हालत देखते हुए पुलिस ने उसे छोड़ दिया, जबकि परिवार वालों का कहना है कि पुलिस कर्मी उसे गंभीर हालत में घर छोड़ गए। शाम चार बजे उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना पर काफी संख्या भीड़ जमा हो गई, पुलिस की कार्यशैली से लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। लोगों का कहना रहा कि इतने गंभीर हालत में भी पुलिस ने उसे घर तो भेज दिया, लेकिन मेडिकल के लिए नहीं भेजा। काफी संख्या में लोग नलकूप कालोनी को घेरने पहुंच गए। इसबीच पुलिस फोर्स ने पहुंचकर भीड़ को खदेड़ा। बाद में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस ने एक वीडियो के आधार पर दो युवकों को हिरासत में भी लिया है। देर शाम एसपीआरए डा. संसार सिंह, एसडीएम कमलेश कुमार सिंह, सीओ रामप्रकाश ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। फिलहाल उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार किया है और पीड़ित पक्ष ने तहरीर भी नहीं दी थी।

पुलिस लापरवाही नही करती, तो बच सकती थी युवक की जिंदगी

आंवला। पूरी घटना में लोगों का आरोप है कि पुलिस की कार्यशैली शक के दायरे में रही, यदि पुलिस ने समय से युवक का मेडिकल कराया होता, तो शायद उसका जीवन बच जाता। युवक को पेड़ से रस्सी के सहारे बांधे जाने और कुछ लोगों द्वारा घेरे हुए खड़े होने का वीडियो भी वायरल हो रहा है। वासिद टैंट पर और उसका पिता गौस मोहम्मद लोगों के यहां मजदूरी करते थे। वासिद के परिवार में पत्नी आसमां और चार बच्चे मुस्कान, तौफीक, तौहिद, तौसीब हैं। कालोनी परिसर से मोटर चोरी के शक में लोगों ने उसे पकड़ लिया और पेड़ से बांधकर पीटा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*