सुप्रीम कोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश के नाम पर राष्ट्रपति की मुहर, इस दिन से संभालेंगे कार्यभार। पढ़िये कौन हैं यह

नई दिल्ली। जस्टिस नूतलपति वेंकट रमण भारत के अगले चीफ जस्टिस होंगे। सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक, जस्टिस रमण 24 अप्रैल को भारत के 48वें चीफ जस्टिस के तौर पर प्रभार संभालेंगे और मौजूदा सीजेआई एसए बोबडे की जगह लेंगे। चीफ जस्टिस बोबडे 23 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इनके नाम पर मंजूरी दे दी है। मौजूदा मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने अपने उत्तराधिकारी के तौर पर न्यायमूर्ति एनवी रमण के नाम की सिफारिश की थी। न्यायमूर्ति नूतलपति वेंकट रमण को 17 फरवरी 2014 में सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया था। हालांकि उनके कार्यकाल में दो साल से भी कम का वक्त बचा है क्योंकि वह 26 अगस्त 2022 को रिटायर होने वाले हैं।

जस्टिस रमण सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जजों की फेहरिस्त में आते हैं और सीजेआई एसए बोबडे  के बाद दूसरे नंबर पर आते हैं। पिछले कुछ सालों में इनका सबसे चर्चित फैसला जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट की बहाली का था।

न्यायमूर्ति रमण का जन्म 27 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश के कृष्ण जिले के पोन्नवरम गांव में एक कृषि परिवार में हुआ था। उन्होंने दस फरवरी 1983 में वकालत शुरू कर दी थी। किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले जस्टिस रमण 27 जून 2000 को आंध प्रदेश हाईकोर्ट के स्थायी जज बने। इसके बाद वह यहीं के कार्यकारी चीफ जस्टिस, फिर 2013 में दिल्ली हाई कोर्ट के भी मुख्य न्यायाधीश बनाए गए। इसके बाद 17 फरवरी 2014 को वह सुप्रीम कोर्ट के जज बने।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*