युवा हाथों में प्रदेश का राज, जानिए उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बारे में सबकुछ

देहरादून। खटीमा से विधायक पुष्कर सिंह धामी को प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री चुना गया है। कुशल नेतृत्व क्षमता तथा शैक्षिणिक व व्यावसायिक योग्यता के कारण ही वह प्रदेश के सबसे युवा मुख्यमंत्री बने हैं। उनकी उम्र 45 वर्ष है। धामी का जन्म पिथौरागढ के ग्राम टुण्डी में 1975 में जन्म हुआ थाा। छात्र जीवन में ही वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गए। 1990 से 1999 तक जिले से लेकर राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न पदों की जिम्मेदारी भी संभाली।

यह भी पढ़ें : खटीमा विधायक पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखंड के नए CM, विधायक दल की बैठक में फैसला

यह भी पढ़ें : त्रिवेंद्र सिंह रावत के दफ्तर में शुरू हुआ जश्न, बांटी जा रही मिठाई। क्या संदेश दे रहे हैं त्रिवेंद्र सिंह रावत

धामी एवीबीपी के प्रदेश मंत्री के रूप में काम किया। लखनऊ में परिषद के राष्ट्रीय सम्मेलन के संयोजक और संचालक भी रहे। इसके बाद दो बार भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी बनाए गए। 2002 से 2008 तक छह वर्षों तक लगातार पूरे प्रदेश में जगह-जगह भ्रमण कर युवा बेरोजगार को संगठित किया आैर स्थानीय युवाओं को 70 प्रतिशत आरक्षण राज्य के उद्योगों में दिलाने में सफलता प्राप्त की। धामी के नेतृत्व में ही प्रदेश के 90 युवाओं को जोड़कर विधानसभा के घेराव के लिए एक ऐतिहासिक रैली आयोजित की गयी, जिसे युवा शक्ति प्रदर्शन के रूप में उदाहरण स्वरूप आज भी याद किया जाता है।

यह भी पढ़ें :  CM तीरथ के इस्तीफे पर Ex CM हरदा ने ली चुटकी, बाेले दोनों TSR भले आदमी, लेकिन…

कुशल नेतृत्व क्षमता तथा शैक्षिणिक एवं व्यावसायिक योग्यता के कारण पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में वर्ष 2010 से 2012 तक शहरी विकास अनुश्रवण परिषद के उपाध्यक्ष के रूप में कार्यशील रहते हुए क्षेत्र की जनता की समस्याओं का समाधान कराने में आशातीत सफलता प्राप्त की जिसका प्रतिफल देते हुए जनता ने 2012 के विधान सभा चुनाव में उन्हें विजयश्री दिलाकर की।

खबरों से रहें हर पल अपडेट :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*