15.2 C
New York
Thursday, October 28, 2021

Buy now

मंत्री के इस बयान ने लखीमपुर खीरी में लगाई आग, 4 किसानों और 3 भाजपाइयों समेत 8 की मौत के बाद जिले में इंटरनेट बंद

लखनऊ। यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का विरोध करने आए किसानों पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे अाशीष मिश्र की गाड़ी चढ़ने से चार किसानों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। जानबूझकर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाते हुए गुस्साए किसानों ने मंत्री के बेटे की दो गाड़ियों में तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी। वहीं, मंत्री के बेटे ने खेतों में भागकर जान बचाई, लेकिन इस दौरान किसानों ने मंत्री के बेटे के कार चालक और तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को पीट-पीटकर मार डाला।

स्थिति पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार को लखीमपुर खीरी के लिए रवाना कर दिया है। एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह ने 8 लोगों की मौत की पुष्टि की है। इनमें चार किसान, तीन भाजपा कार्यकर्ता और एक केंद्रीय मंत्री के बेटे का कार चालक है। इधर, बवाल बढ़ता देख कई जगहों से किसान और राजनेता मौके पर पहुंचने लगे हैं। राकेश टिकैत भी खीरी को रवाना हाे चुके हैं। यह देख पूरे खीरी जिले की इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

सीएम दौरा छोड़कर पहुंचे लखनऊ, जताया दुख

सीएम योगी ने दुःख जताते हुए कहा कि इस प्रकार की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार इस घटना के कारणों की तह में जाएगी। दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीएम क्षेत्र के सभी लोगों के अपील की है कि वे अपने घरों पर ही रहें और किसी के बहकावे में न आएं। घटना के वक्त सीएम गोरखपुर में थे। इसी बीच बवाल की जानकारी होने पर वह गोरखपुर का कार्यक्रम रदकर लखनऊ पहुंच गए। उन्होंने डीजीपी मुकुल गोयल को अपने आवास पर तलब किया है। वहीं मौके अपर मुख्य सचिव नियुक्ति, कार्मिक एवं कृषि, एडीजी कानून व्यवस्था, आयुक्त लखनऊ और आईजी लखनऊ को भेज दिया गया है।

कई नेता भी खीरी के लिए रवाना

इस मामले में विपक्ष भी कूद पड़ा है। सोमवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी सुबह 6 बजे लखीमपुर के लिए रवाना होंगी।कांग्रेस मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को 6 बजे सुबह बुलाया गया है। राहुल गांधी के भी पहुंचने की बात कही जा रही है। वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी भी लखीमपुर खीरी पहुंचेंगे।

मंत्री के बेटे ने खारिज किया आरोप

इस बीच केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र ने कहा है कि मैं कार्यक्रम के अंत तक सुबह नौ बजे से बनवारीपुर में था। मेरे खिलाफ आरोप पूरी तरह से निराधार हैं और मैं इस मामले की न्यायिक जांच की मांग करता हूं। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए। हमारे तीन वाहन एक कार्यक्रम के लिए उप मुख्यमंत्री की अगवानी करने गए थे। रास्ते में कुछ बदमाशों ने पथराव किया, कारों में आग लगा दी और हमारे चीन-चार कार्यकर्ताओं को लाठियों से पीटा।

मंत्री ने किया बेटे का बचाव, बोले- किसान के वेश में थे अराजकतत्व

इस पूरे घटना पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी ने बताया कि हंगामे के दौरान चालक को पत्थर लगने से गाड़ी अनियंत्रित होकर किसानों पर चढ़ने से हादसा हुआ था। मगर किसानों के वेश में घुसे अराजकतत्वों ने भाजपा कार्यकर्ताओं की पीट-पीटकर हत्या कर दी। ड्राइवर को भी पीट-पीटकर मार डाला गया है। मेरे बेटे का घटना में कोई रोल नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रियंका-राहुल ऐसी ओछी राजनीति पहले से करते आ रहे हैं।

ऐसे हुआ बवाल

कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान पिछले एक सप्ताह से केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी का भी विरोध कर रहे हैं। उनका आरोप है कि केंद्रीय मंत्री ने आंदोलन को लेकर गलत टिप्पणी की थी। रविवार को उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम की जानकारी होने पर किसान उनका भी विरोध करने खीरी के पास के ही कस्बे तिकुनिया में हैलीपैड के पास इकट्ठे हुए थे। विरोध की आशंका को देखते हुए उप-मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से न आकर सड़क मार्ग से खीरी पहुंचे। उन्होंने दोपहर करीब 12 बजे विकास योजनाओं का शिलान्यास किया। इसके बाद उन्हें केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव बनवीरपुर में एक दंगल का उद्घाटन करने जाना था, मगर इसकी जानकारी होने पर रास्ते में तिकुनिया में ही लखीमपुर और आसपास के जिलों के किसान विरोध करने के लिए भारी संख्या इकट्ठा हो गए। किसानों के इकट्ठा होने के कारण उप-मुख्यमंत्री का केंद्रीय मंत्री के गांव बनवीरपुर तिकुनियां मार्ग से जाने का कार्यक्रम रद कर दिया गया और वापस लखनऊ चले गए। हालांकि इसकी जानकारी मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र को नहीं मिली और वे अपने गांव से उप मुख्यमंत्री को लेने तिकुनियां मार्ग से ही गुजरे। दोपहर लगभग दो बजे कस्बे के विद्युत उपकेंद्र के पास इकट्ठे हुए किसानों और आशीष मिश्र के बीच झड़प हो गई। किसानों नेताओं का आरोप है कि इसी दौरान आशीष ने उनके ऊपर गाड़ी चढ़ा दी। इसमें कई किसान घायल हो गए।

मंत्री के सुधर जाओ… बयान से भड़के थे किसान

तिकुनियां में बवाल की आग आठ दिन पहले संपूर्णानगर में आयोजित किसान गोष्ठी से सुलगनी शुरू हो गई थी। 25 सितंबर को वहां जाने के दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को काले झंडे दिखाए गए थे। इस पर उन्होंने मंच से ही किसानों को धमकाते हुए कहा था.. सुधर जाओ वरना हम सुधार देंगे।

ऐसे ही लेटेस्ट और रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें :

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles