10.2 C
New York
Saturday, October 23, 2021

Buy now

Corona alert : बच्चों को कोरोना से लड़ने में सुरक्षा देगी यह वैक्सीन, प्रदेश सरकार ने लिया यह बड़ा निर्णय

देहरादून। कोरोना से अभी तक हमारा देश उबर नहीं सका है। इसकी दूसरी लहर युवाओं के लिए बहुत घातक साबित हुई है और अब संभावित तीसरी लहर में बच्चों को लेकर सचेत किया गया है। ऐसे में उत्तराखंड सरकार भी बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। सरकार ने तय किया है कि प्रदेश में बच्चों को निमोनिया से बचाने के लिए अब न्योमोकोकल काजूगेट वैक्सीन दी जाएगी। इस वैक्सीन को बीते शुक्रवार को ही नियमित वैक्सीनेशन में शामिल किया गया है। इसमें प्रदेश सरकार को विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनाइटेड नेशन डेवलपमेंट प्रोग्राम, जेएसआइ सहयोग करेंगे। माना जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर में यह वैक्सीन बच्चों को सुरक्षा प्रदान करेगी।

यह भी पढ़ें : Corona 3rd Wave : पांच साल तक के बच्चों वाली महिला पुलिस कर्मियों को मिले यह छूट, हाई कोर्ट में याचिका दाखिल

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में Covaxin टीके की पहली खुराक देने पर रोक, इस वजह से सरकार ने उठाया कदम

बच्चों की मौतों का बड़ा कारण निमोनिया

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार निमोनिया बच्चों की मृत्यु का एक बड़ा कारण है। विश्वभर में निमोनिया से होने वाली कुल मौतों में से 20 फीसद भारत में होती है। भारत में पांच वर्ष से 10 वर्ष के बच्चों में से 15 प्रतिशत की मृत्यु निमोनिया के कारण होती है। यह माना गया है कि निमोनिया का प्रमुख कारण न्योमोकोस है। इसके विरुद्ध लडऩे के लिए न्योमोकोकल कोजूगेट वैक्सीन एकमात्र उपाय है। इस वैक्सीन से बच्चों को निमोनिया से होने वाली बीमारी से बचाया जा सकता है। यह वैक्सीन कई अन्य रोगों के संक्रमण से भी बचाव करती है।

1.83 लाख बच्चों को मुफ्त दी जाएगी खुराक

अभी तक यह वैक्सीन केवल पांच राज्यों में उपलब्ध थी। अब केंद्र सरकार की सहायता व राज्य सरकार के प्रयासों से यह वैक्सीन उत्तराखंड के बच्चों के लिए भी उपलब्ध होने जा रही है। उत्तराखंड में निमोनिया से बचाव के लिए निजी चिकित्सकों द्वारा यह वैक्सीन बीते कुछ वर्षों से शुरू की गई है। इस पर 10 हजार से लेकर 12 हजार रुपये तक का खर्च आती है। अब भारत सरकार के सहयोग से प्रदेश के 1.83 लाख बच्चों को इस वैक्सीन की तीन डोज राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत मुफ्त दी जाएगी। ये डोज बच्चे के जन्म के छह सप्ताह, 14 सप्ताह और नौ माह में दी जाएगी।

 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles