spot_img

पृथ्वी को बचाने के लिए मंगल ग्रह के बच्चे ने लिया पुनर्जन्म, वैज्ञानिक भी हुए हैरान

न्यूज जंक्शन 24, नई दिल्ली। रूस से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। यहां एक बच्चे ने कुछ ऐसा दावा किया है, जिसे सुनकर पूरी दुनिया के वैज्ञानिक भी हैरान रह गए हैं। बच्चे के दावे को गलत साबित करने के लिए इन वैज्ञानिकों के पास कोई तर्क भी नहीं है। इस कारण इस बच्चे की बातें सभी को हैरान कर रही हैं। बच्चे का नाम बोरिस्का किप्रियानोविच है और यह असाधारण क्षमता वाला भी है। इसकी उम्र अभी महज 15 वर्ष है।

बच्चे ने दावा किया है कि हजारों साल पहले एक न्यूक्लियर संघर्ष में मंगल ग्रह पर एक प्रजाति का समूल विनाश हो गया था। पृथ्वी भी उसी खतरे की ओर बढ़ रही है। पृथ्वीवासियों को भी भविष्य में ऐसी ही तबाही का सामना करना पड़ेगा। इस तबाही से पृथ्वी को बचाने के लिए ही उसका पुनर्जन्म (rebirth to save earth) हुआ है। उसका कहना है कि मानव के रूप में जन्म लेने से पहले वह मंगल ग्रह का निवासी था।

रूस के वोल्गोग्राड में रहने वाला यह बच्चा असाधारण है। अंतरिक्ष के बारे में उसकी जानकारियां तो चौंकाने वाली हैं। 2017 में जब पहली बार यह बच्चा दुनिया के सामने आया तब उसकी उम्र 11 साल थी। इस दौरान बोरिस्का किप्रियानोविच ने पृथ्वी को लेकर कई चेतावनियां जारी की थीं। उसने कहा था कि पृथ्वी के लोगों को तबाही का सामना करना पड़ेगा। इसलिए मानव जाति को बचाने के लिए उसे एक मिशन पर यहां भेजा गया है (rebirth to save earth)।

यह भी पढ़ें : कश्मीर में टारगेट किलिंग का उत्तराखंड कनेक्शन, एक को पकड़ ले गई पुलिस

यह भी पढ़ें : काशी में विराजित हुई मां अन्नपूर्णा की दुर्लभ प्रतिमा, सीएम योगी ने की प्राण प्रतिष्ठा

बच्चे का दावा है कि मंगल ग्रह पर एक पायलट था। एक युद्ध में अपने ग्रह को बचाने के लिए उसने पृथ्वी की यात्रा की थी। वह बताता है कि मंगलवासी शारीरिक रूप से लंबे और तकनीकी रूप से सक्षम होते हैं। उसका कहना है कि मंगल ग्रह पर जब वह 14-15 साल का था तब ही उसने अपने दोस्तों के साथ मंगल ग्रह को बचाने के लिए युद्ध में भाग लिया था। वह आगे कहता है कि वहां के अंतरक्षि यान गोल होते हैं।

मंगल ग्रह को लेकर हैरान करने वाले दावे

बोरिस्का का कहना है कि मंगल ग्रह पर कई लोग अमर हैं। वहां पर 35 साल की उम्र के बाद उनकी उम्र बढ़ना बंद हो जाती है। ये लोग आज भी मंगल ग्रह पर मौजूद हैं। इसके अलावा भी यह बच्चा अंतरिक्ष, एलियंस और मंगल ग्रह के बारे में अजीब से रहस्यों का खुलासा करता है। बच्चे (rebirth to save earth) के इस दावे से वैज्ञानिक भी हैरान हैं। बच्चे की मां कहती हैं कि उनका बच्चा जन्म से ही अलग है। वह अपने उम्र के बच्चों से कहीं ज्यादा जानकार था। उन्होंने बताया कि पैदा होने के सिर्फ दो सप्ताह बाद ही उसने खुद से अपना सिर बिना किसी सहारे के ऊपर उठा लिया था। बच्चे (rebirth to save earth) के पिता बताते हैं कि उन्होंने कभी भी उसको अंतरिक्ष की शिक्षा नहीं दी, इसके बाद भी वह ऐसे बातें करता है जैसे वह सचमुच अंतरिक्ष का निवासी हो।

ऐसे ही लेटेस्ट व रोचक खबरें तुरंत अपने फोन पर पाने के लिए हमसे जुड़ें

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे यूट्यब चैनल से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles